Spread the love

,

In Saplodi village of Paidi district, a guldar trapped in a cage was burnt to death by an angry mob. It is alleged that despite a lot of persuasion from the forest department’s team present on the spot, the mob carried out the incident. CCF Garhwal Sushant Kumar Patnaik has asked the DFO to register a case in the matter.

In Saplodi village, on May 15, a woman who went to the forest to collect kafal was killed by Guldar. On Monday night, Guldar also attacked a woman in Kulmori village near Saplodi. On Monday night, Guldar was imprisoned in a cage set up in Saplodi village

पाैड़ी जिले के सपलोड़ी गांव में पिंजरे में फंसे गुलदार को आक्रोशित भीड़ ने जलाकर मार डाला। आरोप है कि मौके पर मौजूद वन महकमे की टीम के काफी समझाने के बावजूद भीड़ ने वारदात को अंजाम दिया। सीसीएफ गढ़वाल सुशांत कुमार पटनायक ने डीएफओ से मामले में मुकदमा दर्ज कराने को कहा है।

Pauri Forest Officer Anil Bhatt said that people did not kill the caged guldar from the spot and set it on fire by putting grass etc. on top of the cage. DFO Garhwal Mukesh Kumar told that FIR will be registered after PM report

सपलोड़ी गांव में बीती 15 मई को काफल लेने जंगल गई एक महिला को गुलदार ने मार डाला था। सोमवार रात को गुलदार ने सपलोड़ी पास कुलमोरी गांव में भी एक महिला पर हमला कर दिया। सोमवार की रात को गुलदार सपलोड़ी गांव में लगाए गए पिंजरे में कैद हो गया था।

The inhuman face of the crowd was shown in Uttarakhand, the caged guldar was burnt alive and killed
The inhuman face of the crowd was seen in Pauri district. A guldar imprisoned in a cage was burnt alive by the mob. After the incident, CCF Garhwal has instructed the DFO to register a case

धोखेबाजों के अमानवीय हमले में, नियंत्रण में पकड़ने वाले गुलदार को जलाकर मारकर
पराग में असामान्य दिखने को देखने। बंद में एक गुलदार का मारा ने जिंदा जलाकर मार डाला। घटना के बाद घटना के लिए गढ़वाल ने डायबेशनल को डायरेक्शन के मामले में बदलाव किया है


Spread the love

By udaen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *