विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर वन धन विकास केंद्रों ने वृक्षारोपण अभियान शुरू किया

जनजातीय कार्य मंत्रालय विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर वन धन विकास केंद्रों ने वृक्षारोपण अभियान शुरू किया आदिवासियों का जीवन प्रकृति के साथ घनिष्ठ रूप से जुड़ा हुआ है। जनजातीय लोग सदियों से प्रकृति की गोद में रह रहे हैं और उनका अस्तित्व तथा जीविका प्रकृति एवं इसकी उदारता पर निर्भर है। इसमें कोई आश्चर्य नहीं होना चाहिए कि, पर्यावरण हमारे आदिवासियों की पहचान का एक प्रमुख हिस्सा है। 5 जून, 2021 को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर, देश के कई हिस्सों में वन धन विकास केंद्रों के आदिवासी सदस्यों ने अधिक से अधिक संख्या में पेड़ लगाने का अभियान शुरू किया है। ऐसा ही एक उदाहरण महाराष्ट्र राज्य से सामने आया है, जहां वन धन विकास केंद्र से संबधित आदिवासी एकात्मिक सामाजिक सामाजिक संस्था शाहपुर के जनजातीय सदस्यों ने मोखवाने और खारीद गांवों में इस अभियान के तहत 10,000 गिलोय के पौधे लगाए हैं। विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर ट्राइफेड के प्रबंध निदेशक श्री प्रवीर कृष्ण की अध्यक्षता में ट्राइफेड ने एक वर्चुअल कॉन्फ्रेंस का आयोजन भी किया था। ट्राइफेड के सभी क्षेत्रीय कार्यालयों ने इसमें भाग लिया। यह एक बेहद महत्वपूर्ण कार्यक्रम था, जिसमें उपस्थित लोगों को जनजातियों तथा प्रकृति के बीच सहजता एवं घनिष्ठ संबंधों से अवगत कराया गया और लोगों को यह भी बताया गया कि प्रकृति को बनाए रखने तथा पर्यावरण के संरक्षण के लिए आदिवासियों की पहचान को सहेज कर रखना कितना आवश्यक है। पर्यावरण संरक्षण के लिए आदिवासी भाइयों व बहनों का सहयोग बहुत जरूरी है।          ट्राइफेड ने आदिवासियों के सशक्तिकरण के लिए नोडल एजेंसी के रूप में इन लोगों के जीवन को बेहतर बनाने के वास्ते कई उत्कृष्ट पहल की हैं। ट्राइफेड द्वारा कार्यान्वित वन धन विकास योजना वन-आधारित जनजातियों के लिए स्थायी आजीविका के सृजन की सुविधा प्रदान की जाती है। यह वन धन केंद्रों की स्थापना करके लघु वन उत्पादों के मूल्यवर्धन, ब्रांडिंग तथा विपणन में सहायता प्रदान करने का एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम है। इस योजना का उद्देश्य आदिवासियों को उनके व्यवसाय का विस्तार करने में मदद करना और आय बढ़ाने के लिए वित्तीय पूंजी, प्रशिक्षण, सलाह आदि के संदर्भ में सहायता प्रदान करके उन्हें सशक्त बनाना है। वन धन योजना, ‘न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) के माध्यम से लघु वनोपज (एमएफपी) के विपणन के लिए तंत्र’ और एमएफपी के वास्ते मूल्य श्रृंखला का विकास’ का एक विशेष घटक है, जो हाल ही में स्थानीय आदिवासियों के लिए रोजगार के एक प्रमुख स्रोत के रूप में उभर कर सामने आया है। यह आदिवासी उद्यमिता का एक आदर्श उदाहरण है और यह दर्शाता है कि किस प्रकार से यह क्लस्टर विकास एवं मूल्य संवर्धन सदस्यों को उच्च आय अर्जित करने में मदद कर सकता है। एक विशिष्ट वन धन विकास केंद्र में 20 आदिवासी सदस्य शामिल होते हैं। 15 ऐसे वन धन विकास केंद्र मिलकर 1 वन धन विकास केंद्र क्लस्टर बनाते हैं। वन धन विकास केंद्र क्लस्टर 23 राज्यों तथा […]

Continue Reading

पर्यटन मंत्री श्री प्रहलाद सिंह पटेल ने 108 भाषाओं में लॉन्च की आईआईटीटीएम की नई वेबसाइट

पर्यटन मंत्रालय पर्यटन मंत्री श्री प्रहलाद सिंह पटेल ने 108 भाषाओं में लॉन्च की आईआईटीटीएम की नई वेबसाइट विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर बतौर मुख्य अतिथि भारतीय पर्यटन एवं यात्रा प्रबंधन संस्थान के कार्यक्रम में वर्चुअली शामिल हुए पर्यटन मंत्री अतुल्य भारत पर्यटक सुविधाकर्ता प्रमाणन कार्यक्रम (IITFC) संचार संगोष्ठी का वर्चुअल उद्घाटन केंद्रीय संस्कृति […]

Continue Reading

“बच्चों में कोविड-19: खतरे और सावधानियां”

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय “बच्चों में कोविड-19: खतरे और सावधानियां” सीएसआईआर की नई इकाई, सीएसआईआर-राष्ट्रीय विज्ञान संचार और नीति अनुसंधान संस्थान (एनआईएससीपीआर), नई दिल्ली ने कल (04 जून 2021 को) बच्चों में कोविड-19 के बारे में आधे दिन का एक ऑनलाइन सत्र आयोजित किया। यह सत्र हाल ही में कोविड-19 की दूसरी लहर के प्रकोप और बच्चों […]

Continue Reading

एनटीपीसी ने संयुक्त राष्ट्र के सीईओ वाटर मैंडेट पर किए हस्ताक्षर, पानी की खपत को कम करने, उसका फिर से इस्तेमाल करने और उसे रीसाइकिल करने की दिशा में एक खास पहल

विद्युत मंत्रालय एनटीपीसी ने संयुक्त राष्ट्र के सीईओ वाटर मैंडेट पर किए हस्ताक्षर, पानी की खपत को कम करने, उसका फिर से इस्तेमाल करने और उसे रीसाइकिल करने की दिशा में एक खास पहल देश की सबसे बड़ी विद्युत कंपनी एनटीपीसी लिमिटेड ने प्रतिष्ठित यूएन ग्लोबल कॉम्पेक्ट के सीईओ वाटर मैंडेट पर हस्ताक्षर कर दिए […]

Continue Reading

श्री गंगवार ने कोविड-19 महामारी के प्रभाव का मुकाबला करने के लिए भारत की प्रतिबद्धता को दोहराया; आईएलसी के 109वें सत्र को संबोधित किया

श्रम और रोजगार मंत्रालय श्री गंगवार ने कोविड-19 महामारी के प्रभाव का मुकाबला करने के लिए भारत की प्रतिबद्धता को दोहराया; आईएलसी के 109वें सत्र को संबोधित किया केंद्रीय श्रम और रोजगार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री संतोष गंगवार ने महामारी के प्रभाव से मुकाबला करने और इसके खिलाफ मजबूत बनने के लिए हर संभव […]

Continue Reading

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर आज जिलाधिकारी गढ़वाल डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे के नेतृत्व में जनपद मुख्यालय में वृहद स्तर पर सफाई अभियान चलाया गया।

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर आज जिलाधिकारी गढ़वाल डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे के नेतृत्व में जनपद मुख्यालय में वृहद स्तर पर सफाई अभियान चलाया गया। वहीं जनपद के समस्त तहसील एवं विभिन्न स्थानों पर भी स्वच्छता अभियान चलाया गया। अभियान में स्वच्छता के साथ-साथ वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया […]

Continue Reading

एनटीपीसी ने संयुक्त राष्ट्र के सीईओ वाटर मैंडेट पर किए हस्ताक्षर, पानी की खपत को कम करने, उसका फिर से इस्तेमाल करने और उसे रीसाइकिल करने की दिशा में एक खास पहल

विद्युत मंत्रालय एनटीपीसी ने संयुक्त राष्ट्र के सीईओ वाटर मैंडेट पर किए हस्ताक्षर, पानी की खपत को कम करने, उसका फिर से इस्तेमाल करने और उसे रीसाइकिल करने की दिशा में एक खास पहल देश की सबसे बड़ी विद्युत कंपनी एनटीपीसी लिमिटेड ने प्रतिष्ठित यूएन ग्लोबल कॉम्पेक्ट के सीईओ वाटर मैंडेट पर हस्ताक्षर कर दिए […]

Continue Reading

प्रकृति एवं पर्यावरण संरक्षण का संकल्प

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर आज अपने आवास में वृक्षारोपण किया और प्रकृति एवं पर्यावरण संरक्षण का संकल्प लिया। पर्यावरण की सुरक्षा आम आदमी के जीवन से जुड़ा विषय है और इसका संरक्षण हम सबकी सामूहिक जिम्मेदारी है। #WorldEnvironmentDay2021

Continue Reading