Spread the love

अरविंद केजरीवाल की शहीद और पूर्व फौजियों को दी गारंटी का विरोध, बीजेपी की फौज विरोधी मानसिकता: कर्नल कोटनाला,अध्यक्ष ,सैनिक प्रकोष्ठ,आप

सच्चे सैनिक प्रेमी हैं केजरीवाल,बीजेपी कांग्रेस का विरोध उनकी फौजियों के खिलाफ मानसिकता का परिचायकः कर्नल कोटनाला,अध्यक्ष ,सैनिक प्रकोष्ठ,आप

सैनिकों के सम्मान से बीजेपी कांग्रेस परेशान,सच्चे देशभक्त से डर रहे भ्रष्टाचारी:कर्नल कोटनाला,अध्यक्ष ,सैनिक प्रकोष्ठ,आप

आज आप के सैनिक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष कर्नल कोटनाला ने एक प्रेस बयान जारी करते हुए बीजेपी कांग्रेस को सैनिक विरोधी करार दिया है। उन्होंने कहा कि आप के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के देहरादून दौरे पर उनके द्वारा पूर्व फौजियों और शहीद के परिजनों को 1 करोड़ सम्मान राशि की गारंटी के बाद,बीजेपी कांग्रेस इसका विरोध कर रहे जो सीधे तौर पर ये बताने के लिए काफी है कि बीजेपी कांग्रेस दोनों फौजियों के विरोधी हैं।

कर्नल कोटानाला ने बताया कि अरविंद केजरीवाल जी की उत्तराखंड के पूर्व फौजियों ,सेना के जवानों ,पुलिस के जवानों और पैरामिलिट्री फोर्सस के जवानों के लिए जो घोषणाएं की गई हैं , वो घोषणा ऐतिहासिक हैं और इस घोषणा के बाद से ही प्रदेश के कई शहरों और गांवों से कई पूर्व फौजी और सेना के जवान उनसे फोन पर संपर्क कर यह बता रहे हैं कि, प्रदेश में 21 सालों में पहली बार ऐसा पल आया ,जब किसी पार्टी ने पूर्व फौजियों,सेना के जवानों और पुलिस के जवानों समेत पैरामिलिट्री के बारे में सोचा है।

वो सभी लोग कह रहे हैं कि 21 सालों में पहली बार उनके सम्मान की किसी दल ने बात की है। फौजियों और सेना के जवानो का यह भी कहना है कि देश पर शहीद होने वाले के परिजनों के लिए एक करोड की आर्थक सहायता देना वाकई में एक अच्छा कदम और फैसला है।

कर्नल कोटनाला ने आगे कहा कि आप पार्टी पहली ऐसी पार्टी है जो फौज से रिटायर हुए 35 साल के युवा फौजियों के एक्स्पीरियंस की बात करती है कि ऐसे सभी फौजियों को जो रिटायरमेंट के बाद नौकरी के इच्छुक हैं,उन्हे आप की सरकार बनते ही प्रदेश में सरकारी नौकरियां में आरक्षण दिया जाएगा ताकि उनके एक्सपीरियंस का लाभ प्रदेश के नवनिर्माण में मिल सके।

कर्नल कोटनाला ने आगे कहा कि आखिर फौज के सैनिकों का सम्मान करना क्या गलत है ,आखिर क्यों बीजेपी और कांग्रेस इस सम्मान से आहत हो रहे हैं और वो क्यों इसका विरोध कर रहे हैं। क्या बीजेपी कांग्रेस नहीं चाहते कि फौजियों को सम्मान मिले । हमारी पार्टी ने शहीद के परिजन को एक करोड मुआवजा देने का संकल्प लिया है तो आखिर क्यों बीजेपी कांग्रेस इसकी मुखालफत कर रहे हैं। कर्नल ने आगे कहा कि एक सैनिक का पूरा फौज का जीवन संघर्ष पूर्ण रहता है । वो हर किसी परिस्थिति में कार्य करने में सक्षम होता है। चाहे कोई निर्माण कार्य का मामला हो या फिर दुश्मन के छक्के छुडाने का एक फौजी हर परिस्थिति में अपने आप को ढाल लेता है।

उन्होंने आगे कहा कि जब हम ऐसे सैनिकों के एक्सपीरियंस का इस्तेमाल प्रदेश के नवनिर्माण के लिए करना चाहते हैं ,जिससे जहां एक ओर भ्रष्टाचार पर लगाम लगेगी तो दूसरी ओर भ्रष्ट नेताओं की दुकानें बंद होंगी। उन्होंने आगे कहा कि इसमें दोनों दलों को क्या आपत्ति है। ये दोनों दल आज प्रदेश के फौजियों के खिलाफ हैं जो एक सैनिक के नाम पर राजनीति करने से बाज नहीं आते लेकिन जब सैनिक के सम्मान की बात आती है तो ये छीटाकंशी से भी बाज नहीं आते लेकिन आप पार्टी देशभक्तों का सम्मान करना जानती है और मातृभूमि पर शहीद होने वाले किसी भी सैनिक को आप की सरकार बनने पर एक करोड की आर्थक राशि जरुर दी जाएगी।


Spread the love

By udaen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *