Spread the love

सामुहिक खेती के रूप में कार्य कर स्थानीय उत्पाद को बढावा दें – जिलाधिकारी धीराज सिह गर्ब्या

पौड़ी : जिलाधिकारी धीराज सिह गर्ब्याल की अध्यक्षता में आज जिलाधिकारी कैंप कार्यालय सभागार में जिला स्तरीय स्क्रीनिंग समिति बैठक की गई। जिसमें पं. दीनदयाल उपाध्याय गृह आवास (होम-स्टे) विकास योजना ऋण /राज सहायता तथा वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली स्वरोजगार योजना के तहत पहुंचे आवेदकों के साक्षात्कार ली गई। आवेदकों के होम-स्टे, वाहन मद एवं गैर वाहन मद के आवेदन पत्र को स्वीकृत कर योजना से लाभान्वित करने हेतु जिला पर्यटन अधिकारी को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। जिसमें दीनदयाल उपाध्याय गृह आवास (होम-स्टे) के 10 आवेदन, वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली स्वरोजगार योजना में वाहन मद में 11 आवेदन तथा गैर वाहन मद में 5 आवेदन स्वीकृत किये गये। जबकि गैर वाहन मद में 02 आवेदन अस्वीकृत किये गये। जिला स्तरीय स्क्रीनिंग समिति द्वारा साक्षात्कार में आवेदकों की मन की बात तथा रोजगार के प्रति लगाव जानी ।

 

राज्य सरकार की महत्वपूर्ण योजना दीनदयाल उपाध्याय गृह आवास (होम-स्टे) को जनपद गढ़वाल में परम्परागत रूप से धरातल में विकसित करने हेतु जिलाधिकारी धीराज सिह गर्ब्याल का अहम योगदान है। उन्होने आज होम-स्टे को लेकर साक्षात्कार में पहुंचे आवेदकों को अपने होम-स्टे व्यवसाय में परंपरागत शैली को बढ़ावा तथा सामुहिक रूप से कार्य करने को प्राथमिकताऐं देने को कहा। कहा कि सामुहिक खेती के रूप में कार्य कर स्थानीय उत्पाद को बढावा दें। अब स्थानीय उत्पाद को मण्डी परिषद क्रय कर रहे है। जिससें स्थानीय कास्तकारों को अपने फसल की अच्छी दाम भी मिल रही है। उन्होने कहा कि जैविक उत्पाद की बाजार में अच्छी मांग है। अपने होम-स्टे के साथ-साथ करीब 25-25 कास्तकारों को जोडकर सामुहिक खेती करें। संजय बिष्ट एवं सतीश चन्द्र पंत ने दिल्ली से रिवर्स पलायन कर, होम-स्टे के क्षेत्र में अपने तथा क्षेत्र के बेरोजगार लोगों के भविष्य सवारने की बात कही। जबकि सतीश चन्द्र पन्त सामुहिक खेती कर जैविक उत्पाद को बढावा दे रहे है। वहीं ग्रामीणों को भी स्वरोगार से जोड रहे है। दीनदयाल उपाध्याय गृह आवास (होम-स्टे) के तहत 10 आवेदन स्वीकृत की गई।

वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली स्वरोजगार योजना में वाहन मद में सभी 13 आवेदन स्वीकृत की गई। गैर वाहन मद 05 आवेदन स्वीकृत किये गये। जबकि 2 आवेदन अस्वीकृत हुई। जिलाधिकारी ने कहा कि बहुत ज्यादा ऋण न लें, अपितु छोटे छोटे कर सेटअप को विस्तृत रूप दे। कहा कि मार्केट कार्य महत्वपूर्ण है। इस अवसर पर जिला पर्यटन विकास अधिकारी पौड़ी अतुल भण्डारी, एल.डी.एम. पौड़ी नन्द किशोर, डी.डी.एम. नवार्ड पौड़ी भूपेन्द्र सिह,  परीक्षक वस्त्र उद्योग विभाग सुनील कुमार, सम्भागीय निरीक्षक आनन्द वर्धन व संबंधित अधिकारी सहित  आवेदक उपस्थित थे।


Spread the love

By udaen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *