Spread the love

पौड़ी गढ़वाल दिनांक 12 जनवरी 2022. सामान्य विधानसभा निर्वाचन 2022 में तैनात किए गए जोनल और सेक्टर मजिस्ट्रेट के द्वितीय चरण का प्रशिक्षण कार्यक्रम विकास भवन सभागार में आयोजित किया गया। जिलाधिकारी डॉ विजय कुमार जोगदंडे ने प्रशिक्षण कार्यक्रम में संबंधित कार्मिकों को निर्देशित किया कि लोकतंत्र के पर्व विधानसभा चुनाव को शांतिपूर्ण, गोपनीयता, पारदर्शिता और व्यवस्थित तरीके से संपादित करने के लिए अपनी जिम्मेदारियों को भली-भांति समझकर आदर्श आचार संहिता के अनुरूप व्यवहार करने और दिये गए निर्देशों का पालन करते हुए अपने दायित्व का निर्वहन करें। उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह विभिन्न प्रारूपों में दी जाने वाली सूचनाओं को सही तरह से और त्वरित गति से भेजना सुनिश्चित करें तथा अपने अपने क्षेत्रों के अंतर्गत विभिन्न पोलिंग स्टेशन और मतदान केंद्रों का पुनः अवलोकन करें तथा वहां पर मिनिमम एश्योर्ड फैसिलिटी चेक करते हुए यदि उसमें किसी प्रकार के सुधार की आवश्यकता है तो उसे समय रहते ठीक करें। जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि विधानसभा निर्वाचन को भयमुक्त, स्वतंत्र और शांतिपूर्ण बनाए रखने के लिए वल्नरेबल तथा क्रिटिकल बूत और मतदान केंद्रों पर बारीकी से नजर रखें तथा मतदान प्रक्रिया में यदि किसी भी प्रकार व्यक्ति विशेष, समुदाय विशेष अथवा किसी भी तरह की बाधा उत्पन्न होने की संभावना रहती है तो उसका तत्काल निराकरण निराकरण करें, जिससे कोई भी सामान्य नागरिक भयमुक्त होकर अपने मतदान का प्रयोग कर सकें। उन्होंने दंड प्रक्रिया संहिता, इंडियन पेनल कोड तथा जन प्रतिनिधित्व अधिनियम जरूरी प्रावधानों का उल्लेख करते हुए संबंधित अधिकारियों को इसको निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान आवश्यकतानुसार उपयोग करने के भी निर्देश दिए। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी प्रशांत आर्य ने भी चुनाव के पिछले अनुभव और विभिन्न उदाहरण के माध्यम से चुनाव प्रक्रिया के दौरान सामान्यतः की जाने वाली छोटी बड़ी गलतियों पर प्रकाश डालते हुए निर्देश दिए कि हमें संपूर्ण निर्वाचन प्रक्रिया को बहुत ही गंभीरता से लेना है और प्रशिक्षण में आने वाले विभिन्न बिंदुओं के संबंध में यदि किसी भी प्रकार का कोई संदेह है तो उसको दूर करें ताकि दायित्व निर्वहन के दौरान गलती की कोई गुंजाइश ना रहे। उन्होंने कहा कि जोनल और सेक्टर मजिस्ट्रेट विधानसभावार के निर्वाचन अधिकारियों तथा अपनी पोलिंग पार्टियों से निर्वाचन के दौरान बेहतर समन्वय स्थापित करेंगे तथा निर्वाचन सामग्री की सुरक्षा और गोपनीयता बनाए रखना सुनिश्चित करेंगे। सुनिश्चित करें कि संबंधित पार्टियां एक साथ संबंधित स्टेशन अथवा मतदान केंद्र पर जाएं और वापस आए साथ ही उनके साथ सुरक्षा के पूरे बंदोबस्त हो। इसके अतिरिक्त मास्टर ट्रेनर दीपक रावत ने जोनल और सेक्टर मजिस्ट्रेट को उनके दायित्व संपादन के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी दी।


Spread the love

By udaen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *