Spread the love

रिखणीखाल की उपेक्षा बर्दाश्त नहीं -रघुबीर बिष्ट

# रिखणीखाल में गरजे ग्रामीण ।

हिल्स डेवलपमेन्ट मिशन के चैयरमेन व युवा काँग्रेस नेता रघुबीर बिष्ट के नेतृत्व में विकासखण्ड रिखणीखाल की विभिन्न मुख्य समस्याओं व माँगों को लेकर हजारों ग्रामीणों ने रिखणीखाल में विशाल रैली निकाल कर ज़ोरदार धरना-प्रदर्शन किया। विकासखण्ड रिखणीखाल के अति दुर्गम क्षेत्रों से भी बड़ी भारी सँख्या में ग्रामीणों ने रैली व धरने-प्रदर्शन में क्षेत्र के पिछड़ेपन को लेकर अपना गहरा आक्रोश व्यक्त किया। शनिवार को सुबह 11 बज़े हजारों की सँख्या में क्षेत्रीय ग्रामीण युवा नेता रघुबीर बिष्ट के नेतृत्व में ब्लॉक मुख्यालय में एकत्रित हो कर अपने क्षेत्र की विभिन्न मांगों को लेकर विशाल रैली के रूप में जोरदार नारेबाज़ी करते हुए रिखणीखाल बाज़ार में एकत्रित हुए।
धरने को सम्बोधित करते हुए युवा नेता रघुबीर बिष्ट ने क्षेत्रीय विधायक पर रिखणीखाल क्षेत्र के विकास कार्यो की उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उनका परिवार पिछले कई दशकों से सत्ता में रह कर क्षेत्र का निरन्तर प्रतिनिधित्व कर रहा है। परन्तु उनके द्वारा विकास के नाम पर रिखणीखाल में कोई भी उल्लेखनीय कार्य नहीं किये गए है जिससे क्षेत्रीय जनता में गहरा आक्रोश व्याप्त है। कहा कि काँग्रेस शासन में रिखणीखाल को उप-तहसील बनाने के बावजूद अभी तक तहसील भवन का निर्माण न होना व तहसीलदार सहित अन्य आवश्यक स्टॉफ की तैनाती न होना दुर्भाग्यपूर्ण है। पूर्व मंत्री जनरल टीपीएस रावत द्वारा स्वीकृत आईटीआई को बन्द करवाना भी क्षेत्रीय युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ करना है। पॉलिटेक्निक का निर्माण अभी भी अधर में लटका है , जिससे छात्र-छात्राओं को तकनीकी शिक्षा से वंचित होना पड़ रहा है। रिखणीखाल डिग्री कॉलेज में शिक्षकों के अधिकतर पद रिक्त चल रहे हैं।लाइब्रेरी व विज्ञान लैब का निर्माण लम्बित है। रिखणीखाल, बुंगलगड़ी, बड़खेत, द्वारी,डाबरी, किल्बोखाल,टकोलिखाल, सिद्धखाल, कुणालीखाल इण्टर कॉलेज सहित क्षेत्र के समस्त विद्यालयों में शिक्षकों के अनेक पद रिक्त चल रहे हैं, जिससे छात्र-छात्राओं का भविष्य अंधकारमय हो रहा है। क्षेत्रीय विधायक व प्रदेश सरकार युवाओं के शैक्षणिक भविष्य के प्रति पूरी तरह से संवेदनहीन हैं। रिखणीखाल क्षेत्र के सभी चिकित्सालयों में डॉक्टर्स, फार्मेसिस्ट्स,टेक्नीशियंस, आवश्यक ,स्टाफ़ कर्मियों सहित आवश्यक उपकरण व दवाइयों बेहद कमी निरन्तर बनी हुई है।
रघुबीर बिष्ट ने दूरसंचार सेवायें दुरुस्त करने , बदहाल गड्डो भरी सड़कों का डामरीकरण करने, ठप्प पड़ी अधूरी सड़कों का तुरन्त निर्माण करने व डिग्री कॉलेज के छात्र-छात्राओं की परिवहन सुविधा हेतु क्षेत्र के विभिन्न रूटों से बसों के नियमित संचालन हेतु, समस्त ग्रामीण क्षेत्रों में रसोई गैस के वितरण हेतु नियमित गाड़ी की सुविधा व ग्रामीणों को आवश्यक पेंशन उपलब्ध करवाने हेतु राज्यपाल व मुख्यमंत्री से मांग की है। धरने में जिला पंचायत सदस्य विनयपाल नेगी,पूर्व जिला पंचायत सदस्य रमेश रावत,राजेन्द्र रावत,पूर्व प्रमुख रश्मि पटवाल, क्षेत्र पंचायत सदस्य सुनीता भारद्वाज, प्रधान मलण गांव, अलका देवरानी, अन्नू भारद्वाज , गजेंद्र प्रसाद ध्यानी, अजयपाल रावत, भूपेंद्र सिंह नेगी, मुकेश ध्यानी, सूरज देवरानी, जैन सिंह बिष्ट,रूपेंद्र रावत, हास्य कलाकार किशना बगोट,संतोषी देवी, मनोज सेमवाल, गुणानंद भारद्वाज सहित भारी सँख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।


Spread the love

By udaen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *