Spread the love

राष्ट्रीय

पेंशन बहाली सँयुक्त मोर्चा NOPRUF कोटद्वार जनपद पौड़ी इकाई की एक बैठक राजकीय इंटर कॉलेज कोटद्वार में आहूत की गई बैठक सरदार नरेश सिंह की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।

बैठक में पुरानी पेंशन बहाली हेतु लोकसभा चुनाव से पूर्व केंद्र सरकार और राज्य सरकार पर दबाव बनाने की रणनीति तय की गई, बैठक में वक्ताओं द्वारा मंच से राज्यस्थान,बिहार,झारखंड,छतीसगढ़ और पा पश्चिमबंगाल सरकारो का धन्यवाद ज्ञापित् किया उन राज्यो से प्रेरणा लेकर अन्य राज्यो मे भी पेंशन बहाली का निर्णय लेना चाहिए क्योंकि कर्मचारियौ के लिए पेंशन उनके सामाजिक जीवन से जुड़ा मुद्दा है और बुढ़ापे के लिए संजीवनी है।
मनमोहन चौहान जिला मंत्री राजकीय शिक्षक द्वारा पुरानी पेंशन बहाली के लिए अग्रिम कार्यक्रमो में शिक्षकों की पूर्णतः भागीदारी देने हेतु आस्वस्त किया औऱ कहा कि पेंशन कार्मिको का मौलिक अधिकार है इससे वंचित नही किया जा सकता।
मुकेश रावत,अधिकारी कर्मचारी शिक्षक संघ के कोटद्वार अध्यक्ष द्वारा बैठक को सम्बोधित करते हुये प्रत्येक विकास खण्ड और पंचायत स्तर पर आम कार्मिको को जागरूक करने की आवश्यकता को महसूस किया गया व नए एन. पी.एस अधिकारियौ,शिक्षकों और कर्मचारियौ को प्रेरित करने हेतु अग्रिम रणनीति बनाने हेतु विचार रखे।
विजेंद्र बिष्ट राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली सँयुक्त मोर्चा उत्तराखण्ड(एन.ओ.पी.आर.यू. एफ)के प्रांतीय सचिव ने कहा कि मोर्चा पूरे देश मे एक मिशन पुरानी पेंशन बहाली के उद्देश्य सँघर्ष कर रहा है और कई राज्यो में परिणाम। ही दिख रहे है धीरे धीरे आंदोलन को उग्र किया जाएगा।
संतन रावत, उत्तरांचल फेडरेशन ऑफ मिनिस्ट्रीयल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय सँयुक्त मंत्री ने कहा कि जब एक दिन के विधायक और सांसद बनने पर पेंशन की ब्यवस्ता है तो कर्मचारियौ को 35 या 40 साल की सेवा के बाद पुरानी पेंशन ब्यवस्ता से वंचित क्यों किया जा रहा है, उनके द्वारा कहा गया कि यदि एन.पी.एस ब्यवस्ता इतनी ही अच्छी है तो पहले सांसद,विधायक स्वम् इसे ले।
डॉ0 मनोज जोशी द्वारा कहा गया कि एन.पी.एस प्रणाली को पूर्णतः बाजारीकरण पर निर्भर है आजकल शेयर बाजारों की स्थिति को देखते हुए भविष्य में कर्मचारियौ द्वारा जो अपना पैसा लगाया गया है वह भी न डूब जाय इसका भी खतरा बना हुआ है।
रतन रावत द्वारा बैठक भी चिंता जताते हुए सरकार से अपील की कि जो कर्मचारियौ का जो पैसा बाजारों में एन.पी.एस के नाम पर लगाया जा रहा है सरकारे चाहैं तो उस पैसे को राज्यो में विकास कार्यों और आपदाओं के समय देश और राज्य हित में लगा सकती थी परन्तु शेयर बाजारों में कर्मचारियौ के पैसे को लगाकर नुकसान करके कर्मचारियौ के साथ साथ सरकार का भी नुकसान है इसलिये पुरानी पेंशन ब्यवस्ता को देश हित मे बहाल कर देना चाहिये।
सीताराम पोखरियाल,प्रदेश महासचिव राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली सँयुक्त मोर्चा(एन. ओ.पी.आर.यू.एफ) उत्तराखण्ड द्वारा बैठक में उपस्थित सभी शिक्षक,कार्मिको का धन्यवाद ज्ञापित किया गया साथ ही एन.पी.एस प्रणाली को पूर्णतः गलत ठहराते हुए संघठन के आगामी कार्यक्रमो के सम्बंध में विचार रखे साथ ही लोकसभा चुनाव से पहले केंद्र सरकार पर दबाव बनाने हेतु बी.पी सिंह रावत राष्ट्रीय अध्यक्ष के नेतृत्व में पूरे देश मे कार्यक्रमो में तेजी लाने हेतु अवगत कराया गया साथ ही उनके द्वारा सम्बोधन में अवगत कराया गया कि पुरानी पेंशन,जी.पी.एफ ब्यवस्ता कार्मिको लिए बहुत ही हितकर है और बुढ़ापे में जब केवल दवाईयां और ढ़लती उम्र होगी तब पेशन ही एकमात्र सहारा है, कार्मिको से अपील की कि राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली सँयुक्त मोर्चे द्वारा जब जब कार्यक्रम लगाए जाएं सभी कार्मिक पूर्ण भागीदारी करें।
अंत मे बैठक की अध्यक्षता कर रहे सरदार नरेश संरक्षक,राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली सँयुक्त मोर्चा द्वारा सभो कार्मिको का धन्यवाद ज्ञापित किया गया साथ ही पुरानी पेंशन बहाली हेतु चरणबद्ध कार्यक्रमो को करने हेतु रणनीति को बताया गया व बैठक में समस्त ब्यवसताओ हेतु प्रधानाचार्य राजकीय इंटर कॉलेज कोटद्वार व उनके स्टाफ का भी धन्यवाद ज्ञापित किया गया।
बैठक में परितोष रावत, रवींद्र सिंह रावत, अखिलेश नेगी,पूर्ण सिंह नेगी,विनोद सिंह बिष्ट, दीपक पंत, हरीश जोशी, सतेंद्र रौतेला, देशबंधु पोखरियाल आदि उपस्थित रहे।


Spread the love

By udaen

Leave a Reply

Your email address will not be published.