युवा उत्तराखण्ड उद्यमिता एवं रोजगार की ओर कार्यक्रम 2019

परेड ग्राउण्ड में युवा उŸाराखण्ड उद्यमिता एवं रोजगार की ओर 2019 कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसका उद्घाटन माननीय मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया। आयोजन में राज्य के समस्त क्षेत्रों से उपस्थित लगभग 15000 युवाओंको सम्बोधित करते हुए माननीय मुख्यमंत्री द्वारा पर्यटन, उद्योग, आधारभूत ढ़ाचें, परिवहन, ऊर्जा आदि महत्वपूर्ण सेक्टरों में विगत दो वर्षो में किये गये महत्वपूर्ण कार्यो का विवरण प्रस्तुत करते हुए उन क्षेत्रों में किये गये कार्यो से रोजगार/स्वरोजगार/उद्यमशीलता पर हुए सकारात्मक प्रभाव के बारे में अवगत कराया गया। इसके अतिरिक्त प्रत्येक जनपद मुख्यालय में 13000 से अधिक युवा लाईव स्ट्रीमिंग के माध्यम से सीधे कार्यक्रम से जुडे़ माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा राज्य से हो रहे पलायन, केन्द्र सरकार के सहयोग से राज्य में स्थापित की जा रही रेल/सड़क/विमामन परियोजनाओं के बारे में भी विस्तार से उल्लेख किया गया तथा इनसे भविष्य मंे उत्पन्न होने वाली रोजगार की सम्भावनों के सम्बन्ध में भी सम्बोधित किया गया। मुख्यमंत्री जी द्वारा यह भी अवगत कराया गया कि विगत इन्वेस्टर समिट में हस्ताक्षरित किये गये एम0ओ0यू0 में से लगभग 13000 करोड़ के कार्य धरातल पर प्रारम्भ कर दिये गये है।मुख्यमंत्री जी द्वारा सरकार की कार्य प्रणाली में निष्पक्षता/पारदर्शिता के साथ युवाओं से सवांद स्थापित करते हुए नीतिगत निर्णय लिए जाने के लिए युवा उŸाराखण्ड एप भी प्रारम्भ किया गया। मुख्यमंत्री जी द्वारा अपने सम्बोधन के पश्चात राज्य के विभिन्न भागों से कतिपय युवाआंे के प्रश्नों का उŸार भी दिया गया। कार्यक्रम में माननीय विŸा मंत्री जी, माननीय कौशल विकास एवं सेवायोजन मंत्री जी, माननीय शहरी विकास मंत्री जी, माननीय उच्च शिक्षा मंत्री जी, माननीय महिला सशक्तिकरण बाल विकास मंत्री जी, विधायकगण, मुख्य सचिव, डी0जी0पी0, अपर मुख्य सचिव, विभागीय प्रमुख सचिव/सचिव/अपर सचिव के साथ विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। माननीय उच्च शिक्षा मंत्री डाॅ0 धन सिंह रावत जी द्वारा कार्यक्रम के आयोजन का उद्देश्य एवं रूपरेखा का विवरण दिया गया। विशेष रूप से आमंत्रित ओयो कम्पनी के सी0ई0ओ0 श्री आदित्य घोष एवं सम्पर्क फाउण्डेशन के संस्थापक श्री विनित नायर द्वारा अपने अनुभवों को सांझा करते हुए युवाओं द्वारा अपनी क्षमताओं को आंकलित करते हुए दृढ़ निश्चय के साथ अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए लगातार निरन्तर प्रयासरत रहने का आह्यवन किया गया जिससे उनके व्यक्तिगत उन्नयन के साथ राज्य की प्रगति मंे भी भागीदारी सुनिश्चित की जा सके। माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारायुवा उŸाराखण्ड एप लाॅन्च की गई जिस पर युवाओं को रोजगार एवं स्वरोजगार के अवसर की जानकारी उपलब्ध करायी जायेगी। राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के युवाओं को विभिन्न सरकारी योजनाओं के माध्यम से उपलब्ध कराये जा रहे रोजगार/स्वरोजगार के अवसरों का एक संकलन युवा उŸाराखण्ड उद्यमिता एवं रोजगार की ओर बुकलेट के रूप में किया गया है जिसका विमोचन भी माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा किया गया। आयोजन में कृषि एवं कृषि सम्बन्धित क्षेत्र तथा सहकारिता, सूचना एवं प्रौद्योगिकी व सूचना प्रौद्योगिकी सक्षम सेवाऐं (प्ज्ध्प्ज्मे)एवं सेवा क्षेत्र, पर्यटन एवं सम्बन्धित क्षेत्र तथा एम0एस0एम0ई0/उद्यशीलता/स्आर्टअप्सक्षेत्रों के सम्बन्ध मंे विभिन्न विशेषज्ञों तथा सम्बन्धित विभाग के सचिव/प्रमुख सचिव तथा विभागीय मंत्री के साथ प्रतिभागी युवाओं के चार सेक्टोरल सत्रों का आयोजन भी किया गया। जाॅब कांउसिलिंग कार्यक्रम के अन्तर्गत जाॅब काउसिंलिंग में लगभग 2500 युवाओं द्वारा विभिन्न औद्योगिक स्टालों पर भ्रमण कर उद्योग क्षेत्र में उपलब्ध रोजगार के अवसरों की जानकारी प्राप्त की गयी। मेले में 56 औद्योगिक इकाईयों ने प्रतिभाग कर अपने स्टाॅलों के माध्यम से अपनी कम्पनी में उपलब्ध रोजगार अवसरों, न्यूनतम चयन मापदण्ड़ों एवं आवश्यक कौशल की जानकारी प्रदान की गयी। कार्यक्रम का उद्घाटन डाॅ0 हरक सिंह रावत, माननीय मंत्री, कौशल विकास एवं सेवायोजन द्वारा किया गया। मा0 मंत्री जी के द्वारा युवाओं को कौशल प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए प्रेरित किया गया। इस अवसर पर सचिव, कौशल विकास एवं सेवायोजन द्वारा अपने सम्बोधन में युवाओं से इस अवसर का लाभ उठाने की सलाह दी गयी। कार्यक्रम में कॅरियर परामर्श हेतु कार्यक्रम में उपस्थित डाॅ0 प्रीति धवन, एसोसिऐट प्रोफेसर, लेडी श्रीराम कालेज फाॅर वूमेन, दिल्ली विश्वविद्यालय द्वारा विस्तार में कॅरियर के विभिन्न आयामों पर चर्चा की गयी तथा विभिन्न उदाहरण देकर कॅरियर परामर्श दिया गया। कॅरियर परामर्श के द्वितीय सत्र में स्किल साथी द्वारा संक्षप्ति परामर्शी सम्बोधन दिया गया। क्क्न्ळज्ञल्ए च्डज्ञटल् तथा औद्योगिक ईकायों के प्रतिनिधियों द्वारा अपने कार्यक्रमों एवं गतिविधियों के संबंध में जानकारी प्रदान की गयी। निदेशक सेवायोजन द्वारा सभी औद्योगिक इकाईयों का आभार व्यक्त करते हुए यह आशा व्यक्त की गयी कि भविष्य में इसी प्रकार से मिलकर युवाओं के हित में कार्य करने की आवश्यकता है। इस अवसर पर विभिन्न सेक्टर स्किल काउसिंल के प्रतिनिधियों द्वारा अपनेअपने स्टालों में सेक्टर विशेष में उपलब्ध रोजगार एवं कौशल प्रशिक्षण अवसरों की जानकारी प्रदान की गयी। इस आयोजन में शामिल होने के लिए 620 अभ्यर्थियों द्वारा पंजीयन/कॅरियर परामर्श फार्म भर कर अपनी कॅरियर अभिरूचि प्रर्दिशत की गयी। इस अवसर पर नोडल अधिकारी, उत्तराखण्ड कौशल विकास मिशन एवं उपनिदेशक सेवायोजन श्रीमती चन्द्रकान्ता, श्री अजय सिंह, क्षेत्रीय सेवायोजन अधिकारी, श्री प्रवीण चन्द्र गोस्वामी, सेवायोजन अधिकारी, श्रीमती ममता नेगी चैहान, सेवायेाजन अधिकारी, श्रीमती विनीता बडोनी, सेवायोजन अधिकारी, श्री राजेन्द्र वल्दिया, यंग प्रोफेशनल आदि सहित सेवायोजन विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहें। कृषि एवं सम्बन्धित क्षेत्र/सहकारिता क्षेत्र कृषि एवं सम्बन्धित क्षेत्र/सहकारिता के सेक्टोरल सत्र की अध्यक्षता कृषि मंत्री जी द्वारा की गई जिसमें माननीय विधायक श्री मुन्ना सिंह चैहान विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे। सचिव सहकारिता श्री आर0 मीनाक्षी सुन्दरम् एवं सचिव कृषि श्री सेन्थिल पाण्डियन द्वारा अपने सम्बोधन में कृषि के क्षेत्र में सरकार द्वारा किये जा रहे विशेष प्रयास एवं योजनाओं की जानकारी दी गई। सत्र में डाॅ0 वैभव भमोरिया, प्रो0 आई0आई0एम0 काशीपुर, श्री कौशलेन्द्र कुमार, कौशल्या फाउण्डेशन, श्री रूपेश राय, सस्थापक निदेशक, ग्रीन पीपुल, श्री सुमित लखोटिया, द गोल्डन टस्क, श्री मनोज जोशी, आॅर्गानिक फाॅर्मिंग तथा श्रीमति स्वाती पाण्डेय, सी0ई0ओ0 अरबोरियल द्वारा कृषि एवं सम्बन्धित क्षेत्रों में स्वरोजगार के अवसरों की उपलब्धता पर विशेष सम्बोधन किया गया। माननीय मंत्री जी द्वारा अपने सम्बोधन में युवाओं से कृषि के क्षेत्र में आगे आने तथा सरकार की योजनाओं का लाभ स्वयं एवं समाज को देने हेतु प्रयास करने पर जोर दिया गया तथा राज्य की विशेष भौगोलिक परिस्थितियों के दृष्टिगत जैविक कृषि के क्षेत्र में उद्यम स्थापित करने हेतु प्रेरित किया गया। एम0एस0एम0ई0/उद्यमशीलता/स्आर्टअप्स क्षेत्र एम0एस0एम0ई0/उद्यमशीलता/स्आर्टअप्स क्षेत्रों के सेक्टोरल सत्र की अध्यक्षता विŸा मंत्री जी द्वारा की गई। प्रमुख सचिव, एम0एस0एम0ई0 श्रीमति मनीषा पंवार अपने प्रारम्भिक सम्बोधन में युवाओं को एम0एस0एम0ई0/उद्यशीलता/स्आर्टअप्स क्षेत्र में आगे आने हेतु प्रेरित किया गया। सचिव ऊर्जा श्रीमति राधिका झा द्वारा वैकल्पिक ऊर्जा के क्षेत्र में हो रहे निवेस एवं सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों के बारे में युवाओं को जानकारी दी तथा युवाओं से वैकल्पिक ऊर्जा के क्षेत्र में छोटेछोटे उद्यम जिनमें आय की सम्भावना अधिक है, में युवाओं को आगे आने हेतु प्रेरित किया। सत्र में श्री विकास गर्ग, फोरेस इन्डस्ट्री, डाॅ0 कमल किशोर शर्मा, उद्यमी, श्री मयूर सेठी, विटीभिट श्री प्रनव कुकरेती, ट्रैक्स एण्ड रैपिड एवं श्री के0एस0 भाटिया, पम्पकार्ट मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित थे जिनके द्वारा अपने अनुभव युवाओं से सांझा करते हुए उन्हे उद्यमिता के क्षेत्र में आगे आने को प्रेरित किया गया। सत्र का संचालन निदेशक उद्योग श्री एस0सी0 नोटियाल द्वारा किया गया। टूरिज्म एवं सम्बन्धित क्षेत्र टूरिज्म एवं सम्बन्धित क्षेत्र सेक्टोरल सेसन, श्री अमित सिंह नेगी, सचिव पर्यटन उत्तराखण्ड सरकार द्वारा स्वागत सम्बोधन के साथ प्रारम्भ हुआ। श्री नेगी जी द्वारा टूरिज्म के क्षेत्र में खासकर एडवेन्चर, पैराग्लाईडिंग एवं रिवर राफ्ंिटग मे युवाओं के भविष्य में रोजगार की सम्भावनाओं से अवगत कराया। तथा इसमें वर्तमान में चल रही कौशल विकास योजनाओं की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया। श्री नितिन राणा, सहसंस्थापक, ईगल आई एडवेन्चर ने जीवन में युवाओं को लक्ष्य निर्धारित करने की अपील की तथा उसको प्राप्त करने हेतु जी जान से जुडने का आवाह्न किया। श्री विजय बिश्ट, मैनेजिंग डायरेक्टर, डिवाईन रिजार्ट एवं स्पा, ऋशिकेष, कर्नल मनोज कुमार, एडवेन्चर स्पोर्ट एवं श्री प्रतीक काला, संस्थापक, लिटिल जेगुआर कैम्प, कानाताल द्वारा उत्तराखण्ड में टूरिज्म की अपार सम्भावनाओं से अवगत कराया। साथ ही टूरिज्म सैक्टर में उभरते जाॅब रोल्स को भविश्य में रोजगार प्राप्त करने हेतु बहुत महत्वपूर्ण बताया। श्री मदन कौशिक, कैबिनेट मन्त्री, उत्तराखण्ड सरकार द्वारा युवाओं को एडवेन्चर टूरिज्म, स्पा एवं वेल्नेस सैक्टर में युवाओं के लिए रोजगार प्राप्त करने की सम्भावनाओं से अवगत कराया तथा युवाओं से टूरिज्म सैक्टर में अपना हुनर निखारने एवं रोजगार प्राप्ति के प्रयास करने हेतु प्रेरित किया गया। उन्होने बताया कि वर्तमान में टूरिज्म सैक्टर, खासकर उत्तराखण्ड राज्य में उभरता हुआ क्षेत्र है। जिसमें युवा रोजगार एवं स्वरोजगार के अवसरों को प्राप्त कर सकते है। सूचना प्रौद्योगिकी एवं सेवा क्षेत्र सूचना प्रौद्योगिकी एवं सेवा क्षेत्र में श्री आर0 के0 सुधांषु, सचिव सूचना प्रौद्योगिकी, उत्तराखण्ड षासन द्वारा प्रदेष मंे सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में अब तक किये गये कार्यों से अवगत कराया तथा युवाओं को बताया कि सूचना प्रौद्योगिकी एक प्रगतिषील क्षेत्र है जिसमें युवाओं को अपने ज्ञान का संवर्धन वर्तमान परिपेक्ष्य में किया जाना आवष्यक है। सरकार द्वारा प्रदेष के प्रत्येक गांव को शीघ्र ही ब्रोडबैण्ड सेवाओं से जोडा जायेगा जिससे सूचना प्रौद्योगिकी की अत्याधुनिक तकनीक प्रदेष के अन्तिम छोर तक उपलब्ध होगी। श्री धीरज डोलवानी, सी0ई0ओ0, ग्रामीण बी0पी0ओ0 के द्वारा यह अवगत कराया गया कि प्रदेश के पर्वतीय एवं दुर्गम क्षेत्र के युवा भी सूचना प्रौद्योगिकी के प्रयोग से विदेषी कम्पनियों/उपभोक्ताओं को बी0पी0ओ0 से सम्बन्धित अपनी सेवाएंे घर बैठे दे सकते है। इससे रोजगार के नये अवसर उपलब्ध होगें तथा प्रदेष के युवाओं की आर्थिकी में भी वृद्धि होगी। श्री बिजेन्द्र चैहान, सी0ई0ओ0 ईवोन टेक्नोलाॅजी, उत्तराखण्ड, श्री अमित दूबे, उप मुख्य तकनीकि अधिकारी, टेक महिन्द्रा एवं श्री निहार रंजन, सी0ई0ओ0, ईकोनर्चर कन्सल्टेन्सी द्वारा युवाओं को बताया गया कि सेवा क्षेत्र एक तेजी से बढता हुए रोजगार परक क्षेत्र है जिसमें युवा विभिन्न विधाओं में कौषल विकसित कर रोजगार प्राप्त कर सकते है। श्री अमित सिन्हा, निदेषक आई0टी0डी0ए0 द्वारा सूचना प्रौद्योगिकी सक्षम सेवाओं में उपलब्ध सुविधाओं एवं योजनाओं के सम्बन्ध में जानकारी प्रदान की तथा बताया कि वर्तमान में सूचना प्रौद्योगिकी के प्रयोग को देखते हुए युवा क्लाउड सेवाओं सम्बन्धी सेवायंे भी प्रदान कर सकते है जो कि उद्योगों के लिए आज के समय में अति आवष्यक सेवाओं में से एक है। औद्योगिक प्रर्दशनी युवाओं के मार्ग दर्शन हेतु इस कार्यक्रम में औद्योगिक प्रर्दशनी भी लगाई गई जिसमें राज्य में औद्योगिक क्षेत्र में स्वरोजगार एंव रोजगार के अवसरों को प्रदर्शित किया जायेगा। इस प्रर्दशनी में रोजगार एवं स्वरोजगार से जुड़े विभागों/अधिष्ठानों द्वारा स्टाॅल लगाकर युवाओं को जानकारी प्रदान की गई।

Leave a Comment