Spread the love

मंगलवार को सचिवालय में मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार की अध्यक्षता में राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के अन्तर्गत उत्तराखण्ड राज्य एड्स नियंत्रण समिति की गवर्निंग बाॅडी की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक के दौरान समिति द्वारा संचालित विभिन्न गतिविधियों एवं भौतिक प्रगति की विस्तृत जानकारी दी गयी। मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन एचआईवी संक्रमित व्यक्तियों का ईलाज चल रहा है, उन्हें ड्राॅप आउट न होने दिया जाए। मुख्य सचिव ने कहा कि एचआईवी संक्रमित व्यक्तियों को लगातार परामर्श देते हुए ईलाज जारी रखा जाए। उन्होंने कहा कि जिन संक्रमित लोगों ने ट्रीटमेंट छोड़ दिया है, उन्हें वापस ट्रीटमेंट में शामिल करने के प्रयास किए जाएं। मुख्य सचिव ने कहा कि ड्रग्स रिहेबिलिटेशन सेंटर्स में भी एचआईवी संक्रमण के लिए स्कैनिंग करायी जाए, ताकि संक्रमित व्यक्ति की पहचान कर उसका ईलाज किया जा सके। मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार ने कहा कि आंगनवाड़ी वर्कर्स व ए.एन.एम को भी एच.आई.वी. संक्रमण से बचाव व ईलाज के प्रति जागरूकता कायक्रम के लिए शामिल किया जा सकता है। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी, अपर सचिव एवं परियोजना निदेशक उत्तराखण्ड एड्स कन्ट्रोल सोसाईटी श्री युगल किशोर पंत एवं अपर परियोजना निदेशक श्री अर्जुन सिंह सेंगर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे


Spread the love

By udaen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *