Spread the love

जिलाधिकारी गढ़वाल डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने आज देश के प्रथम सीडीएस जनरल विपिन सिंह रावत के पैतृक गांव विकासखण्ड द्वारीखाल के सैणा पहुंच कर, मा. मुख्यमंत्री के प्रतिनिधित्व के रूप में शहीद जनरल विपिन सिंह रावत व उनकी पत्नी के फोटो पर, जिलाधिकारी ने परिजनों के साथ माल्यार्पण व श्रद्धांजलि अर्पित की तथा उपस्थित लोगों के साथ 02 मिनट का मौन रखा। इस दौरान उन्होंने सीडीएस के परिजनों से मुलाकात कर शोक संवेदना व्यक्त कर सांत्वना दी। जिलाधिकारी ने कहा कि हमारे देश के लिए बहुत बड़ी क्षती पहुंची है। कहा कि सीडीएस विपिन रावत साहब को हमेशा याद किया जाएगा तथा वह हमारे लिए सदैव अमर रहेंगे। जिलाधिकारी ने परिजनों को हर सम्भव मदद दिलाने का भरोसा भी दिलाया।
बुधवार को तमिलनाडु के कन्नूर के निकट सीडीएस जनरल विपिन रावत व उनकी पत्नी तथा अन्य सैन्यकर्मियों को लेकर जा रहा एमआई 17 वेरिएंट 5 हेलीकॉप्टर दुर्घटना ग्रस्त हो गया। इस दुर्घटना में 13 लोगों की मृत्यु हो गई व एक गंभीर रूप से घायल हो गया था।

वहीं जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने देश के सीडीएस शहीद जनरल विपिन रावत के गांव पहुंचकर उनके परिजनों को सांत्वना दी। जिलाधिकारी ने कहा कि शहीद सीडीएस के गांव को जोड़ने वाली सड़क लोक निर्माण विभाग दुगड्डा द्वारा पूर्व में डीपीआर तैयार किया था। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग दुगड्डा से वार्ता कर 1 किमी सड़क बनाने हेतु जल्द कार्यवाही की जाएगी। कहा कि जल्द से जल्द सड़क का निर्माण कार्य प्रारम्भ किया जाएगा। साथ ही जिलाधिकारी ने कहा कि सीडीएस विपिन रावत का देश के लिए अहम योगदान रहा है। इस दौरान उन्होंने कहा कि सीडीएस विपिन रावत की स्मृति में कुछ निर्माण कार्य या अन्य कार्य किया जा सकेंगे। उसके लिए परिवार से वार्ता की जाएगी तथा उसके विचार के अनुरूप शासन को प्रस्ताव भेजा जाएगा।
उन्होंने परिजनों से कहा कि वे माननीय मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि रूप में पहुँचा हू, माननीय मुख्यमंत्री जी शहीद सीडीएस के अंत्येष्टि में दिल्ली को रवाना हुए हैं, कहा जनपद के विभिन्न कार्यालयों में भी अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा शोक संवेदना व्यक्त की गई।
जिलाधिकारी ने शहीद सीडीएस के परिजनों के साथ बातचीत के दौरान उनको याद करते हुए कहा कि पिछले सप्ताह वे श्रीनगर गढ़वाल आये थे, महाविधालय में एक कार्यक्रम में छात्रों को प्रमाण पत्र आदि वितरित किए, क्षेत्र के बारे में उन्हें बहुत लगाव था।

जिलाधिकारी ने उनके परिजन भरत सिंह (चाचा), सुशीला देवी (चाची) , हरीनंदन रावत (चाचा) , श्रीमती संतोष (चाची) , रवींद्र सिंह, देवेंद्र सिंह, संजय व अजय रावत (भाई), कुसुम (भाई की बहु) एवं आरबी (भतीजी) आदि परिवार के सदस्यों के साथ शोक संवेदना व्यक्त किया।

इस अवसर पर उप जिलाधिकारी संदीप कुमार, सहायक निदेशक सूचना बद्री चंद नेगी, तहसीलदार कोटद्वार विकास अवस्थी सहित अन्य लोग मौजूद थे।


Spread the love

By udaen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *