Spread the love

’आसमान पर भी सुराख होता है एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारों’ इन पक्तियों से आत्मसात् करते हुए कोटद्वार निवासी महिला उद्यमी उर्मिला देवरानी हौसला,हिम्मत और जनून के साथ चल पड़ी अपने सपने को साकार करने के लिए, रास्ता विकट था,समस्याऐं बहुत थी परन्तु फिर भी कुछ करने की चाह मन में हिलारें ले रही थी। मेहनत, हौसला और संकल्प शक्ति ने सपनों को पंख लगा दिये, मार्ग की बाधाऐं धीरे-धीरे दूर होने लगी एक नया आसमान नजर आने लगा। उर्मिला देवरानी ने सिद्ध किया कि, यदि कोई भी व्यक्ति जब पूर्ण संकल्प शक्ति के साथ कर्मपथ पर आगे बढ़ता है तो मार्ग की बाधाऐं धीरे-धीरे छंटने लगती हैं,मंजिल स्वयं ही पास आने लगती है। उर्मिला देवरानी ने अपनी संकल्प शक्ति का परिचय देते हुए अक्टूबर 2017 में सात महिलाओं के साथ मिलकर श्री भूम्याल महिला गृह उद्योग के नाम से एक महिला स्वयं सहायता समूह का गठन किया। दिसम्बर 2018 में संस्था को पंजीकृत कराया गया। महिलाओं ने मिलकर बड़ी, अचार, मुरब्बा, कैंडी, जैम-जैली, माल्टा-बुंरास का जूस आदि पहाड़ी उत्पाद तैयार करना शुरु कर दिया। उत्तम गुणवत्ता के कारण बाजार में तैयार उत्पादों को हाथों-हाथ लिया गया। बाजार में उनके द्वारा निर्मित उत्पादों की बढ़ती मांग को देखते हुए महिलाओं ने दुगुने उत्साह से कार्य आरम्भ किया तथा सूक्ष्म समय में ही उद्यमिता का फल नजर आने लगा। उर्मिला देवरानी ने बताया कि यह सब पारिवारिक संस्कारों के कारण सम्भव हो पाया है। उनकी मां दाल की बड़ी बनाती थी तो वह भी हाथ बटांती थी। शादी होने के बाद सभी परिवार के सदस्यों का साथ मिलने के

Production unit
कारण यह सब सम्भव हो पाया है। बाजार में पहाड़ी उत्पादों की अच्छी मांग को देखते हुए उर्मिला देवरानी के पति सुबोध देवरानी की पहल पर उर्मिला देवरानी ने मार्च 2018 में सिद्वावैली ऑगेनिक फूड के नाम से एक उत्पादन यूनिट की स्थापना की। यूनिट को अक्टूबर 2018 में जिला उद्योग केन्द्र से पंजीकृत कराया गया। यूनिट द्वारा पहाड़ी उत्पादों को बढ़ावा देने के साथ-साथ उनकी गुणवत्ता को बनाये रखने के लिए क्लीनिंग, ग्राइण्डिग, पॉलिसिंग, डिस्टोनिंग, पैकेजिंग आदि की मशीनें स्थापित की गयी । इन मशीनों के माध्यम से पहाड़ी उत्पादों को हाईजैनिक तरीके से शुद्विकरण कर पैकिंग की जाती है, ताकि शुद्वता के साथ पौष्टिकता से भरपूर पहाड़ी उत्पादों को ग्राहक तक पंहुचाया जा सके।
पहाड़ी उत्पादों को घर-घर तक पहुंचाने के लिए एक मार्केटिंग यूनिट की आवश्यकता होने लगी जो कि बढ़े

हुए उत्पादन के लिए बाजार उपलब्ध करा सके। इसी बात को ध्यान में रखते हुए, राजदर्शन प्रकाश भदूला के निर्देशन में सुबोध देवरानी तथा विकाश देवरानी ने मिलकर जुलाई 2018 में फॉक फूड इंडिया प्रा0 लि0 की स्थापना की। कम्पनी के निदेशक सुबोध देवरानी, विकाश देवरानी तथा प्रबन्ध निदेशक राजदर्शन प्रकाश भदूला हैं। कम्पनी द्वारा मॉउण्टेन डाइट के नाम से पहाड़ी उत्पादों की ब्राडिंग शुरु की गयी। 3 मार्च 2019 को देवी मन्दिर कोटद्वार में मॉउण्टेन डाइट के नाम से प्रथम आउटलेट सेन्टर की स्थापना की गयी। कम्पनी की योजना है कि भविष्य में देश के विभिन्न भागों में मॉउण्टेन डाइट आउटलेट सीरिज की स्थापना की जायेगी। कम्पनी के प्रबन्ध निदेशक राजदर्शन प्रकाश भदूला ने बताया कि बहुत जल्द ही कोटद्वार में दो अन्य सेन्टरों की स्थापना की जायेगी। उन्होंने बताया कि, शीघ्र ही दिल्ली एन. सी. आर. सहित देश के विभिन्न भागों में भी माउण्टेन डाइट आउटलेट सीरिज की स्थापना की जायेगी। विदेशी लोगों को भी पहाड़ी उत्पादों के प्रति आकृर्षित करने के लिए भविष्य में निर्यात की योजना भी प्रस्तावित है। उन्होंने बताया कि पहाड़ी अनाजों की गुणवत्ता श्रेष्ठ है। औषधीय गुणों से भरपूर इन बहुगुणी खाद्य उत्पादों का लाभ विश्व स्तर पर भी लोगों को प्राप्त हो सके इसके लिए विशेष प्रयास किये जारहे हैं। पहाड़ की संस्कृति का प्रसार-प्रचार के साथ-साथ खेती-किसानी के माध्यम से आजीविका करने वाले किसानों को उचित मूल्य मिले इसके लिए भी फॉक फूड इडिण्या द्वारा विशेष प्रयास किये जा रहे हैं। राजदर्शन प्रकाश भदूला ने बताया कि वर्ष 2018-19 में 5 कुन्तल बड़ी, 5 कुन्तल अचार तथा 2000 लीटर शर्बत का उत्पादन किया गया तथा वर्ष 2019-20 के लिए अचार 20 कुन्तल, बड़ी 20 कुन्तल, शर्बत 20,000 लीटर, जैम-जैली 5 कुन्तल, कैंडी 5 कुन्तल, फलेवर साल्ट 5 कुन्तल का लक्ष्य रखा गया है। लक्ष्य को पूरा करने के लिए पूर्ण निष्ठा के साथ गुणवत्ता को बनाये रखते हुए दिन-रात मेहनत जारी है।
TOURIST SANDESH पर 4:47 pm
शेयर करें


Spread the love

By udaen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *