भारत का समग्र टीकाकरण कवरेज 12.38 करोड़ से अधिक हुआ

Awareness

स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय

भारत का समग्र टीकाकरण कवरेज 12.38 करोड़ से अधिक हुआ

10 राज्यों से 79 प्रतिशत नए मामले दर्ज किए गए

मृत्यु दर गिर कर 1.19 प्रतिशत हुई

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज (पीएमजीकेपी) के तहत कोविड-19 योद्धाओं के लिए शुरू की गई बीमा योजना के सभी दावों का 24 अप्रैल 2021 तक निपटान किया जाएगा और इसके बाद उनके लिए एक नई बीमा पॉलिसी को प्रभावी बनाया जाएगा

दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के अंग के रूप में, देश में कोविड-19 वैक्सीन खुराक के संचयी आंकड़े ने आज 12.38 करोड़ की संख्या को पार कर लिया है।

आज सुबह 7 बजे तक अनंतिम रिपोर्ट के अनुसार, 18,37,373 सत्रों के माध्यम से कुल 12,38,52,566 वैक्सीन की खुराक दी गईं। इनमें 91,36,134 एचसीडब्ल्यू शामिल हैं जिन्होंने पहली खुराक ली और  57,20,048 एचसीडब्ल्यू जिन्होंने दूसरी खुराक ली, 1,12,63,909 एफएलडब्ल्यू ने (पहली खुराक) ली जबकि 55,32,396 एफएलडब्ल्यू (दूसरी खुराक) ली। 60 वर्ष से अधिक आयु के पहली खुराक के लाभार्थी 4,59,05,265 और दूसरी खुराक के लाभार्थी 40,90,388 हैं। 45 से 60 वर्ष की आयु के पहली खुराक के लाभार्थी 4,10,66,462 है और दूसरी खुराक के लाभार्थी  11,37,964 हैं।

 

एचसीडब्ल्यू एफएलडब्ल्यू 45 से 60 वर्ष की आयु 60 वर्ष से अधिक आयु  

कुल

पहली खुराक दूसरी खुराक पहली खुराक दूसरी खुराक पहली खुराक दूसरी खुराक पहली खुराक दूसरी खुराक
91,36,134 57,20,048 1,12,63,909 55,32,396 4,10,66,462 11,37,964 4,59,05,265 40,90,388 12,38,52,566

 

देश में अब तक दी गई कुल खुराक का 59.42 प्रतिशत हिस्सा आठ राज्यों से है।

पिछले 24 घंटों में 12 लाख से अधिक टीकाकरण किया गया है।

टीकाकरण अभियान (18 अप्रैल, 2021) के 93वें दिन, वैक्सीन की कुल 12,30,007 खुराक दी गईं। 21,905 सत्रों में 9,40,725 लाभार्थियों को पहली खुराक के लिए टीका लगाया गया था और 2,89,282 लाभार्थियों को दूसरी खुराक के लिए टीका लगाया गया।

 

दिनाँक: 18 अप्रैल, 2021 (दिवस-93)
एचसीडब्ल्यू एफएलडब्ल्यू 45 से 60 वर्ष की आयु 60 वर्ष से अधिक आयु कुल उपलब्धि
पहली खुराक दूसरी खुराक पहली खुराक दूसरी खुराक पहली खुराक दूसरी खुराक पहली खुराक दूसरी खुराक पहली खुराक दूसरी खुराक
8,000 11,825 30,513 22,158 5,91,469 56,205 3,10,743 1,99,094 9,40,725 2,89,282

 

भारत के नए मामलों में प्रतिदिन वृद्धि दर्ज की जा रही है, पिछले 24 घंटों में 2,73,810 नए मामले दर्ज किए गए हैं।

महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, गुजरात और राजस्थान सहित दस राज्यों में नए मामलों का 78.58 प्रतिशत दर्ज किया गया है।

महाराष्ट्र में सबसे अधिक दैनिक नए मामले 68,631 दर्ज किए गए हैं। इसके बाद उत्तर प्रदेश में 30,566 और दिल्ली में  25,462 नए मामले सामने आए हैं।

नीचे प्रदर्शित बीस राज्यों में नए दैनिक मामलों में तेजी का रुख दिख रही है।

भारत में कुल सक्रिय मामलो की संख्या 19,29,329 तक पहुंच गयी है। यह अब देश के कुल पुष्टि वाले मामलों का 12.81 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटों में कुल सक्रिय मामलों में 1,28,013 मामले दर्ज किए गए हैं।

देश के कुल सक्रिय मामलों में पांच राज्यों महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक और केरल का समग्र रूप से 63.18 प्रतिशत हिस्सा है।

भारत में कुल स्वस्थ होने वाले मामले आज 1,29,53,821 है। राष्ट्रीय रिकवरी दर 86.00 प्रतिशत है।

पिछले 24 घंटों में 1,44,178 रिकवरी दर्ज की गई है।

देश में मृत्यु दर में गिरावट जारी है और वर्तमान में यह 1.19 प्रतिशत है।

पिछले 24 घंटों में 1,619 मृत्यु दर्ज हुईं हैं।

दस राज्यों में नई मृत्यु का प्रतिशत 85.11 है। महाराष्ट्र में अधिकतम मृत्यु (503) दर्ज की गईं जबकि छत्तीसगढ में दैनिक 170 मृत्यु दर्ज की गईं हैं।

पिछले 24 घंटों में दस राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से किसी की भी कोविड-19 के कारण मृत्यु की सूचना नहीं है। इन राज्यों में लद्दाख (केंद्र शासित प्रदेश), दमन एवं दीव और दादर एवं नागर हवेली, त्रिपुरा, सिक्किम, मिजोरम, मणिपुर, लक्षद्वीप, नागालैंड, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और अरुणाचल प्रदेश हैं।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज (पीएमजीकेपी) की घोषणा मार्च 2020 में की गई थी। यह योजना कोविड-19 के कारण स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा किसी भी प्रतिकूल परिस्थिति का सामना करने के लिए उन्हें सुरक्षा प्रदान करती है। 24 अप्रैल 2021 तक इस योजना को तीन बार बढ़ाया गया है। इस योजना के तहत हेल्थ वर्कस को 50 लाख रुपये तक का बीमा कवर मिलता है। इससे ऐसे कोरोना वॉरियर्स के परिजनों को काफी सुरक्षा मिली जिनकी मौत कोविड-19 की वजह से हुई हो।

इसके तहत अब तक इंश्योरेंस कंपनियों ने 287 क्लेम का निपटारा किया है। इस स्कीम से कोविड-19 के खिलाफ लड़ने वाले हेल्थ वर्कस का मनोबल काफी बढ़ा है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज (पीएमजीकेपी) के तहत अब इंश्योरेंस कंपनियां 24 अप्रैल 2021 तक कोविड वारियर्स द्वारा किए गए क्लेम का निपटारा करेंगी। उसके बाद कोविड वारियर्स के लिए एक नई बीमा पॉलिसी प्रभावी हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *