Spread the love

नई दिल्ली.जहां लोग खेती छोड़कर नौकरी की तरफ भागते हैं, वहीं पुणे के इन दो भाइयों ने सेटल्ड करियर को छोड़कर खेती को अपना व्यवसाय बना लिया। बैंक की अच्छी खासी नौकरियां और शहरी ज़िन्दगी छोड़कर दोनों ने छह साल में खेती को मुनाफे का सौदा बना दिया। पहले चार साल घाटा झेलने के बाद अब वे महीने के 30 लाख रुपए कमाते हैं। इन दो भाइयों- सत्यजीत (37 वर्ष) और अजिंक्य हांगे (33 वर्ष) ने दो एकड़ जमीन पर खेती से शुरुआत करके अपने शौक को कमाई का जरिया बनाया। अपने खेतों में शौकिया तौर पर शुरू की खेती दोनों भाइयों ने किंडरगार्टन से लेकर एमबीए तक की पढ़ाई पुणे में की। इसके बाद दोनों की बैंकों में नौकरी लग गई। जब सत्यजीत Citi Bank और अजिंक्य HSBC Bank में काम कर रहे थे तो नौकरी के दौरान दोनों गांव में अपने खाली पड़े खेतों को देखने गए। खेतों को अतिक्रमण से बचाने के लिए उन्होंने गन्ना और अन्य फलों की खेती शुरू की। यह बस शौकिया तौर पर थी, लेकिन दोनों को इसमें मजा आने लगा। मिट्‌टी, खाद, बीज और खेती के अन्य पहलुओं के बारे में जैसे-जैसे वे जानकारी जुटाते गए, उनकी खेती-बाड़ी में रुचि बढ़ती गई।
बैंक की नौकरी छोड़कर गांव लौटे दो भाई, खेती से बन गए अमीर, महीने का कमाते हैं 30 लाख रुपएनई दिल्ली.जहां लोग खेती छोड़कर नौकरी की तरफ भागते हैं, वहीं पुणे के इन दो भाइयों ने सेटल्ड करियर को छोड़कर खेती को अपना व्यवसाय बना लिया। बैंक की अच्छी खासी नौकरियां और शहरी ज़िन्दगी छोड़कर दोनों ने छह साल में खेती को मुनाफे का सौदा बना दिया। पहले चार साल घाटा झेलने के बाद अब वे महीने के 30 लाख रुपए कमाते हैं। इन दो भाइयों- सत्यजीत (37 वर्ष) और अजिंक्य हांगे (33 वर्ष) ने दो एकड़ जमीन पर खेती से शुरुआत करके अपने शौक को कमाई का जरिया बनाया। अपने खेतों में शौकिया तौर पर शुरू की खेती दोनों भाइयों ने किंडरगार्टन से लेकर एमबीए तक की पढ़ाई पुणे में की। इसके बाद दोनों की बैंकों में नौकरी लग गई। जब सत्यजीत Citi Bank और अजिंक्य HSBC Bank में काम कर रहे थे तो नौकरी के दौरान दोनों गांव में अपने खाली पड़े खेतों को देखने गए। खेतों को अतिक्रमण से बचाने के लिए उन्होंने गन्ना और अन्य फलों की खेती शुरू की। यह बस शौकिया तौर पर थी, लेकिन दोनों को इसमें मजा आने लगा। मिट्‌टी, खाद, बीज और खेती के अन्य पहलुओं के बारे में जैसे-जैसे वे जानकारी जुटाते गए, उनकी खेती-बाड़ी में रुचि बढ़ती गई।


Spread the love

By udaen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *