बकरी पालन से आमदनी बढ़ाने का आसान तरीका, जानिए

बकरी पालन से आमदनी बढ़ाने का आसान तरीका, जानिए

भारत में पशुपालन व्यवसाय सदियों से किया जा रहा है. ग्रामीण क्षेत्रों में पशुपालन आय का एक प्रमुख साधन है. इसी कड़ी में बकरी पालन एक बहुत लोकप्रिय पशुपालन है. बकरी को काफी बहुउपयोगी माना जाता है. यह एक सीधा-साधा और  किसी भी वातावरण में आसानी से ढ़लने वाला छोटा पशु होता है. तो आइए जानते है कि बकरी पालन क्या है और इसमें कितनी लागत आती है, साथ ही इस बकरी पालन व्यवसाय से कितना कमा सकते है.

बकरी पालन व्यवसाय लागत (Goat farming investment)

अगर आप बकरी पालन शुरू करना चाहते है, तो आपको कम से कम 4 से 5 लाख रूपये तक की जरूरत पड़ेगी. इतने में बकरियों के लिए शेड, साथ ही  उनका दाना-पानी और उनके देखभाल सकुशलता कर सकते है. आपको यह लागत शुरुआती दौर यानि बकरियाँ खरीदने में, शेड बनाने में, बकरियों का चारा खरीदने और लेबर कॉस्ट में लगानी है. बता दें कि बकरी पालन व्यवसाय में लागत से ज्यादा मुनाफा कमाया जा सकता है.

बकरी पालन व्यवसाय (Goat farming business plan)

यह एक ऐसा व्यवसाय है, जो कम लागत में अधिक मुनाफा देता है. आज के दौर में लोग बहुत से जानवरों का पालते है. जिनको पालना काफी मंहगा होता है. उनके दाना-पानी और रहने की व्यवस्था भी काफी महंगी पड़ती है, लेकिन बकरी पालन एक सस्ता और टिकाऊ व्यवसाय माना जाता है. बता दें कि  बकरी पालने के बाद उसे बेचने का व्यवसाय बहुत फायदेमंद होता है. बकरी पालन व्यवसाय से कई तरह से मुनाफा कमाया जा सकता है.

goat farming
  • बकरी का दूध बेचकर मुनाफा कमाना.
  • दूध देने वाली बकरियों को बेचकर लाभ मिलना.
  • बकरियों को माँस के रूप में बेचकर आय करना.
  • ऊन व खाल से आया प्राप्त करना.
  • बकरी की मींगणियों को खाद के रूप में बेचना.

गोट फार्मिंग ट्रेनिंग (Goat farming training)

आपको बता दें कि किसी भी पशुपालन में उनके रहने व खाने पीने का अच्छी तरह ध्यान रखना चाहिए. बकरी पालन में भी उनकी देखभाल सही ठंग से करनी बहुत आवश्यक है. गांव के लोग बकरी पालन का काम ज्यादा करते है, लेकिन अब शहरों में भी ये काफी बढ़ गया है. इसी वजह से इसकी  ट्रेनिंग भी दी जाती है. भारत में बकरी फार्मिंग के प्रशिक्षण के लिए कई प्रशिक्षण संस्थान है. जहां एडमिशन लेकर गोट फार्मिंग की जानकारी हासिल कर सकते हैं. इसमें आपको आपको बकरी की नस्ल, उनके खान-पीन और उनकी देखभाल से जुड़ी सारी जानकारी देंगे. इसके अलावा राज्य की सरकारें पशुपालन के लिए कई योजनाएं चलाती रहती है. जिनका लाभ पशुपालन में उठा सकते है.

Leave a Comment