Spread the love

अजमीर-उदयपुर गेंद मेला एवं विकास समिति थलनदी गेंद मेला का हुआ शुभारम्भ
  
 पौड़ी गढ़वाल जिले के यमकेश्वर ब्लॉक  में अजमीर-उदयपुर गेंद मेला एवं विकास समिति थलनदी ने  गेंद मेला का शुभारंभ  बतौर मुख्य अतिथि पूर्व विधायक शैलेंद्र सिंह रावत ने किया। उन्होंने कहा कि हम अपनी सांस्कृतिक पहचान को भूलते जा रहे हैं। यदि हमें इनको बचाना है तो इन मेलो को सँजो के रखना  जरूरी हैऔर अपनी अगली पीढ़ी को भी  इन आयोजनों से रूबरू कराना भी जरूरी होगा। इस मौके पर संस्कृति विभाग देहरादून के कलाकारों ने जगदेवा बाबा जी क दर्शन कैरियोला.., पोसतू कु छुमा मेरी भाग्यानी बौ.., मन भरगै मेरू.., दर्जी दिदा मैकु.., बाबा महाबगढ़ बल तेरी.., भूखू पेट भजन नि होंद.. आदि गीतों की प्रस्तुतियां देकर दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया गेंद मेले पर पुरुष और महिला वर्ग में रस्साकसी आयोजित की गई। महिला वर्ग से 4 टीमों ने प्रतिभाग किया। फाइनल मैच जयगांव ओर बघेलगांव के बीच खेला गया। इसमें जयगांव की टीम ने बघेलगांव की महिला टीम को फाइनल में हराकर ट्राफी अपने नाम की। पुरुष रस्साकशी में छह टीमों ने प्रतिभाग किया। फाइनल मैच महायोगी गुरु गोरखनाथ महाविद्यालय बिथ्याणी और बघेलगांव की टीमों के बीच में 15 जनवरी को खेला जाएगा। वॉलीबाल में 10 टीमें प्रतिभाग कर रही हैं। पहला मैच कस्याली ए और महायोगी गुरु गोरखनाथ महाविद्यालय बिथ्याणी की टीमों के बीच में खेला गया। इसमें कस्याली ने महाविद्यालय बिथ्याणी की टीम को पराजित कर अगले दौर में जगह बनाई। दूसरा मुकाबला सीला और सिद्धबली कोटद्वार के बीच में खेला गया, जिसमें सिद्धबली कोटद्वार ने सीला को भी हरा दिया। तीसरा मुकाबला कस्याली बी और राजस्व विभाग यमकेश्वर के बीच खेला गया। दोनों टीमें एक-एक की बराबरी पर थे। बारिश के चलते मैच नहीं हो पाया जो अब 15 जनवरी को होगा। इस अवसर पर विजेता टीम के खिलाड़ियों को पुरस्कार भी वितरित किया गया। इसमें कबड्डी जूनियर वर्ग में कस्याली प्रथम और कांडी द्वितीय स्थान पर रहे। कबड्डी सीनियर वर्ग में कस्याली प्रथम और आवई माला द्वितीय स्थान पर रहे। खो-खो बालिका वर्ग में लखवाड़ प्रथम और उड्डा द्वितीय स्थान पर रहे।
मेले में आये मेलार्थियों ने मेले का जम कर लुफ्त उठाया।
.


Spread the love

By udaen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *