तनाव, अवसाद के साथ त्‍वचा रोगों से भी निजात दिलाते हैं ये 5 आयुर्वेदिक तेल, जानें क्‍या हैं ये

प्राकृतिक गुणों से भरपूर आवश्‍यक तेल स्‍वास्‍थ्‍य और सौंदर्य दोनों के लिए फायदेमंद होते हैं। ये खास तेल अलग-अलग पौधों और जड़ी-बूटियों से मिलकर बने होते हैं। इन तेलों में खास किस्‍म की प्रॉपर्टीज मौजूद हैं जिनका इस्तेमाल अरोमा थेरेपी और नेचुरोपैथी में भी किया जाता है। इन तेलों में हाइड्रोफोबिक यानी जल विरोधी तरल पदार्थ पाए जाते हैं जिसमें वोलेटाइल अरोमा कंपाउंड होते हैं। ये तेल इस लिए खास होते हैं क्‍योंकि यह जिन पौधों से प्राप्‍त होते हैं उनकी खुशबू भी इस तेल में मौजूद होती है।

इन तेलों का इस्‍तेमाल मॉइश्‍चराइजर, बॉडी लोशन और हेयर ऑयल या फिर पानी के साथ प्रयोग किया जाता है। ये आवश्‍यक तेल क्‍या हैं और इनके क्‍या फायदे हैं? इनके बारे में हम आपको विस्‍तार से बता रहे हैं।

लैवेंडर ऑयल

लैवेंडर (लैवेंडुला एंजुस्टिफोलिया) सभी आवश्यक तेलों में सबसे ज्‍यादा फायदेमंद है। आमतौर पर शरीर पर इसके आरामदायक प्रभावों के लिए जाना जाता है। लैवेंडर को त्वचा के लिए अत्यधिक फायदेमंद माना जाता है। यह घाव, खरोंच और त्वचा की जलन को सही करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इसकी खुशबू मन को शांति प्रदान करता है। यह चिंता और भावनात्मक तनाव को कम करता है। मधुमेह के लक्षणों से बचाव करे। नींद में सुधार करें। त्वचा की रंगत को बेहतर करे। मुंहासों को कम करें। शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट के होने से उम्र बढ़ना कम हो जाता है।
टी ट्री ऑयल

टी ट्री ऑयल एक आवश्यक तेल है जिसका उपयोग त्वचा, बालों और नाखूनों को स्वस्थ रखने सहित कई उद्देश्यों के लिए किया जा सकता है। इसके वैज्ञानिकों का समर्थन प्राप्‍त है। यह तेल पिंपल्स और उनके कारण त्वचा पर पड़ने वाले निशान से राहत दिलाता है। इस तेल को नियमित हेयर ऑयल के साथ इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इससे सिर में होने वाली रूसी और खुजली खत्म हो जाती है। यह तेल त्वचा में चर्म रोग और फोड़े जैसी समस्याओं को दूर करने में भी मदद करता है।

चंदन ऑयल

चंदन का तेल आमतौर पर लकड़ी की गंध, मीठी गंध के लिए जाना जाता है। यह अक्सर धूप, इत्र, सौंदर्य प्रसाधन और आफ्टरशेव जैसे उत्पादों के लिए एक आधार के रूप में उपयोग किया जाता है। यह आसानी से अन्य तेलों के साथ अच्छी तरह से मिश्रित हो जाता है। परंपरागत रूप से, चंदन का तेल भारत और अन्य पूर्वी देशों में धार्मिक परंपराओं का एक हिस्सा है। चंदन का पेड़ अपने आप में पवित्र माना जाता है। यह एंटी सेप्टिक, एंटी इंफ्लामेट्री और एंटी एजिंग के तौर पर काम करता है। इसके प्रयोग से तनाव और सिर दर्द की समस्‍या दूर हो जाती है।

इसे भी पढ़ें: ऑफिस में काम के दौरान होता है सिरदर्द, तो इन 5 उपायों से पाएं तुरंत राहत

लेमन ग्रास ऑयल

यह तेल तनाव से राहत दिलाने में अहम भूमिका निभात है। लेमन ग्रास ऑयल सिर दर्द, अनिद्रा, अपच, उच्च रक्तचाप, थकान और डीटाक्सफकेशन में भी मदद करता है। लेमन ग्रास ऑयल सर्दियों और मानसून के लिए लाभकारी है। यह आपकी त्वचा को ताजगी प्रदान करता है।

इसे भी पढ़ें: एंग्जाइटी से मिनटों में राहत दिलाते हैं ये 5 तरीके, दिमाग को भी मिलता है सुकून

गुलाब ऑयल

गुलाब ऑयल एंटी एंग्जाइटी एजेंट के रूप में कार्य करता है जो हार्मोनल संतुलन को बनाए रखता है। यह चिंता को कम करता है और बॉडी को आराम पहुंचाता है। दिनभर के कामकाज से उपजे तनाव को भी यह दूर करता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *