Spread the love

स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय

डॉ. हर्षवर्धन और श्री संतोष कुमार गंगवार ने ‘कोविड-19 उद्योग के लिए सुरक्षित कार्यस्थल दिशानिर्देश’ पर पुस्तिका का विमोचन किया

प्रविष्टि तिथि: 29 SEP 2020 5:37PM by PIB Delhi

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और केंद्रीय श्रम और रोजगार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री संतोष कुमार गंगवार ने नीति अयोग के सदस्य (स्वास्थ्य), डॉ. वीके पॉल की उपस्थिति में, आज वर्चुअल प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘कोविड-19’ उद्योग के लिए सुरक्षित कार्यस्थल दिशानिर्देश पर एक पुस्तिका का विमोचन किया।
कोविड-19 उद्योग के लिए सुरक्षित कार्यस्थल दिशानिर्देश जारी करने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए, डॉ. हर्षवर्धन ने कहा, “ये दिशानिर्देश समय पर और सराहनीय हैं। इससे औद्योगिक श्रमिकों के कल्याण में मदद मिलेगी। दिशानिर्देश नियोक्ताओं और श्रमिकों के लिए एक व्यापक नियोजन मार्गदर्शन के रूप में कार्य करते हैं। इसका उपयोग वे अपने परिसर में व्यक्तिगत कार्यस्थल समायोजन पर कोविद-19 के जोखिम स्तरों की पहचान करने और उचित नियंत्रण उपाय निर्धारित करने में मदद करने में करते हैं।” ये दिशानिर्देश श्वसन स्वच्छता, बार-बार हाथ धोने, सुरक्षित दूरी और कार्यस्थल की लगातार सफाई जैसे संक्रमण नियंत्रण के उपायों के आधार पर कार्यस्थल को सुरक्षित बनाने के लिए सभी महत्वपूर्ण उपायों को कार्य बिंदुओं के तैयार अनुमानों में समेकित करते हैं।
स्वास्थ्य मंत्री ने आगे कहा, “माननीय प्रधानमंत्री के नेतृत्व में भारत सरकार श्रमिकों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। इस समय देश आर्थिक गतिविधियों को अनलॉक करने की ओर बढ़ रहा है, ऐसे में यह महत्वपूर्ण है कि उद्योग परिसर के भीतर दिशानिर्देशों का पालन किया जाए। वैज्ञानिक रोकथाम, सावधानी और सकारात्मक दृष्टिकोण हमें कोविड के खिलाफ हमारी लड़ाई में मदद करेगा। ये दिशानिर्देश कोविड-19 और आकस्मिक योजना से संबंधित विभिन्न कार्यों से संबंधित खतरों के मूल्यांकन, वर्गीकरण और राहत दिलाने के लिए मार्गदर्शन प्रदान करेंगे।”

कोविड-19 के खिलाफ भारत की लड़ाई पर, डॉ. हर्षवर्धन ने कहा, “कोविड के सभी मापदंडों में कई विकसित देशों की तुलना में भारत बेहतर स्थिति में है। रोगियों के स्वस्थ होने की लगातार बढ़ती दर और लगातार कम हो रही मृत्यु दर ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की कोविड-19 के खिलाफ अपनाई गयी सम्मिलित रणनीति सफल सिद्ध हुई है। यह देश के सभी संगठनों और नागरिकों के संयुक्त प्रयासों का परिणाम है।” उन्होंने ईएसआईसी अस्पतालों की भी सराहना की जो कोविड रोगियों को सेवाएं प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।

डॉ. हर्षवर्धन ने लोगों से कोविड दिशा निर्देशों के अनुसार उचित व्यवहार का पालन करने का भी आग्रह किया। उन्होंने दोहराया कि जब तक संक्रामक बीमारी से लड़ने के लिए टीका उपलब्ध नहीं हो जाता है, मास्क / फेस कवर, हाथ धोने और सुरक्षित दूरी को बनाए रखने के लिए हमारे सामाजिक टीके का पालन करना होगा।

श्री संतोष कुमार गंगवार ने कहा, “औद्योगिक श्रमिकों की सुरक्षा के लिए ये दिशानिर्देश लोगों को प्रोत्साहित करेंगे। वर्तमान स्थिति के लिए खुद को मानसिक रूप से तैयार करना और कोविड ​​उपयुक्त व्यवहार के बारे में जागरूकता फैलाना महत्वपूर्ण है।”

डॉ. पॉल ने कहा कि दिशानिर्देश औद्योगिक श्रमिकों की सुरक्षा के लिए प्रकाश की किरण के रूप में काम करेंगे। कोविड सुरक्षित व्यवहार के दिशानिर्देशों का चिन्हित समूह में व्यापक प्रसार होना चाहिए।

श्रम और रोजगार सचिव, श्री हीरालाल समारिया, ईएसआईसी की महानिदेशक, श्रीमती अनुराधा प्रसाद, स्वास्थ्य सेवा के महानिदेशक, डॉ. सुनील कुमार, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव सुश्री आरती आहूजा और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।


Spread the love

By udaen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed