Spread the love

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास में हिमालयन हास्पिटल द्वारा जिला चिकित्सालय बौराडी टिहरी, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बेलेश्वर एवं देव प्रयाग में दी जाने वाली चिकित्सा सेवाओं का शुभारम्भ किया। इस प्रकार राज्य मंे स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार एवं विकास के लिए सरकार द्वारा प्रारम्भ की गई महत्वपूर्ण हैल्थ सिस्टम डेवलपमेन्ट परियोजना के प्रथम चरण के अन्तर्गत जनपद टिहरी मंे चिकित्सा सेवाआंे का संचालन हिमालयन अस्पताल जौलीग्रान्ट द्वारा आज से प्रारम्भ हो गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हैल्थ सिस्टम परियोजना की इस गतिविधि को टिहरी क्लस्टर के नाम से संचालित किया जा रहा है जिसके अन्तर्गत स्वास्थ्य सेवाएं पूरे जनपद के लिए उपलब्ध की जायेंगी और जिला चिकित्सालय बौराडी, सामुदायिक स्वाास्थ्य केन्द्र बेलेश्वर एवं देवप्रयाग में हिमालयन अस्पताल के चिकित्सक तैनात रहेंगे इसके अतिरिक्त तीन सचल चिकित्सा वाहन भी संचालित किए जायेंगे जिनके द्वारा क्षेत्र में रोगीयांे की जांच एवं उपचार प्रदान करने का कार्य किया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि प्रदेशवासियों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करना हमारी प्राथमिकता है। इसके लिये निजि अस्पतालों की भी सेवायें ली जा रही हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिये भी योजनाये बनायी गई है। टेलीमेडिशिन, टेली रेडियालाॅजी सहित जिला चिकित्सालयों में आईसीयू की स्थापना जैसी पहल इसमें मददगार होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने टिहरी कलस्टर के अलावा पौडी जनपद की स्वास्थ्य सेवाओं को भी इसी तर्ज पर चलाने का निर्णय लिया है जिसके लिए कार्यवाही प्रारम्भ कर दी गई है। उन्होंने कहा कि संयुक्त चिकित्सालय रामनगर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भिकियासैण तथा बीरौंखाल को भी लोक निजी सहभागिता के अन्तर्गत सुदृढ़ करने का कार्य किया जायेगा। सचिव स्वास्थ्य श्री नितेश झा ने बताया कि लोक निजी सहभागिता के अनुसार संचालित की जाने वाली इस परियोजना के अन्तर्गत अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना के लाभार्थियांे को भी निःशुल्क उपचार प्रदान किया जायेगा और रु 5 लाख तक के अन्तर्गत अस्पताल मं उपलब्ध सभी प्रकार की विशेषज्ञ चिकित्सा सेवाएं मरीजों को मिलेगी। जिला चिकित्सालय मंे हिमालयन अस्पताल के 11 विशेषज्ञ चिकित्सकांे की सेवाआंे के अतिरिक्त सीटी स्केन, अल्ट्रासाउण्ड, एक्स रे तथा ई0सी0जी0 आदि प्रमुख जांचे उपलब्ध रहेंगी। जनपद के दूरस्थ क्षेत्रां ेमंे रहने वाली जनता को भी आवश्यकता अनुसार जिला चिकित्सालय की सभी विशेषज्ञ सेवाएं उपलब्ध होगी और इन सेवाओं को सामुदायिक केंन्द्रों पर भी दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि परियोजना के अन्तर्गत संचालित होने वाली तीनांे सचल चिकित्सा वाहन जनपद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी के परामर्श अनुसार विभिन्न क्षेत्रां ेमंे भ्रमण करेंगे और जनता को प्राथमिक उपचार के साथसाथ मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य संबंधित सेवाएं प्रदान की जायेगी। जिला चिकित्सालय मंे राज्य सरकार के सी0एम0एस0 स्तर का एक अधिकारी तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर राज्य सरकार के नियमित मेडिकल आॅफिसर का प्रशासनिक नियंत्रण बना रहेगा। इस अवसर पर स्वामी राम हिमालयन अस्पताल एवं मेडिकल काॅलेज जौलीग्रान्ट के कुलपति डा. विजय धस्माना ने इस परियोजना की महत्वपूर्ण विशेषताओं के बारे मंे जानकारी देते हुए बताया गया कि अस्पताल मंे सभी प्रकार के प्रमुख विशेषज्ञ चिकित्सा संवाएं प्रदान की जायेगी जिस हेतु 27 चिकित्सकों द्वारा उपचार प्रदान किया जायेगा। इसके अतिरिक्त सी0एच0सी0 बेलेश्वर एवं देवप्रयाग में 88 चिकित्सक तैनात रहेंगे जबकि तीन सचल चिकित्सा वाहनों पर आकस्मिक सेवा हेतु 2 चिकित्सा अधिकारी एवं स्टाफ की तैनाती की गई है। अस्पताल द्वारा सभी संवाएं सरकारी दरांे पर पूर्व की भांति आम जनता को मिलेंगी और उन्हें किसी प्रकार का अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होगा। सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग


Spread the love

By udaen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *