Spread the love

पणजी। आयुष डॉक्टरों के लिए अच्छी खबर है। केंद्रीय आयुष मंत्री ने बुधवार को बड़ी घोषणा की। उनकी घोषणा के मुताबिक़ देश के हरेक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में एलोपैथी डॉक्टरों के अलावा आयुष का भी एक डॉक्टर शामिल होगा। इस घोषणा के लागू होने पर आयुर्वेद, होम्योपैथी, यूनानी डॉक्टरों को भी सरकार द्वारा संचालित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में रखा जाएगा।
आयुष मंत्री ने कहा कि इस तरह के उपायों के माध्यम से लोगों को वैकल्पिक चिकित्सा से अवगत कराया जाएगा। अभी, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में केवल एलोपैथी के ही डॉक्टर हैं, लेकिन अब आयुर्वेद, यूनानी, होम्योपैथी में से एक डॉक्टर होंगे।
नाइक ने कहा कि पीएम मोदी ने जिस योजना को लॉन्च किया था, उसी को और आगे बढ़ाते हुए उनका मंत्रालय आयुष्मान भारत योजना के पहले चरण के दौरान देश भर में 2,500 आयुष कल्याण केंद्रों की स्थापना करेगा। इस योजना के तहत देश भर में 1।12 लाख आयुष कल्याण केंद्र स्थापित करने का लक्ष्य है। सरकार पहले चरण में 2500 केंद्र स्थापित करेगी। (इनपुट – PIITII)


Spread the love

By udaen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *