एडीबी ने तीसरी बार घटाई भारत की विकास दर, 6.5 फीसदी रहने का जताया अनुमान

नई दिल्ली, 25 सितम्बर (हि.स.)। एशियन डेवलपमेंट बैंक (एडीबी) ने तीसरी बार वित्त वर्ष 2019-20 के लिए भारत की विकास दर (जीडीपी वृद्धि दर) में कमी का अंदेशा जताया है। इस बार के अनुमान के तहत विकास दर को 7 फीसदी से घटाकर 6.5 फीसदी किया गया है।Blog single photo
इससे पहले एडीबी ने जुलाई में चालू वित्त वर्ष के लिए भारत की विकास दर के लिए अनुमान 7.2 फीसदी से घटा कर 7 फीसदी किया था। एडीबी ने पहली तिमाही में विकास दर के 6 सालों के निचले स्तर पर फिसल जाने के कारण अपने अनुमान में यह कटौती की है।
एडीबी की एशियन डेवलपमेंट आउटलुक 2019 रिपोर्ट के मुताबिक दक्षिण एशियाई क्षेत्र की विकास गति सुस्त हुई है। इस वजह से एडीबी ने क्षेत्र के लिए 2019-20 में अनुमानित विकास 6.6 फीसदी से घटा कर 6.2 फीसदी कर दी है। हालांकि 2020-21 के लिए 6.7 फीसदी विकास दर रहने का अनुमान बरकरार रखा है।
उल्लेखनीय है कि जुलाई में अनुमानित जीडीपी वृद्धि दर घटाने के पीछे एडीबी ने राजकोषीय कमी की चिंता का हवाला दिया था। इतना ही नहीं उससे पहले अप्रैल में भी एडीबी ने वैश्विक मांग में कमी और घरेलू मोर्चे पर राजस्व में कमी की संभावना के कारण चालू वित्त वर्ष के लिए भारत की अनुमानित विकास दर को 7.6 फीसदी से घटा कर 7.2 फीसदी कर दिया था।
हिन्दुस्थान समाचार

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *