Spread the love

कोराना वायरस (कोविड 19) संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ने के साथ ही राज्य सरकार की चिंता बढ़ने लगी है। इसकी रोकथाम के लिए उत्तराखंड सरकार एवं अर्द्धसैनिक बलों के मध्य अन्तरविभागीय समन्वय स्थापित किए जाने के लिए मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह की अध्यक्षता में शुक्रवार को यहां बैठक हुई। इसमें राज्य सरकार के आला अफसरों के साथ ही सेना और अर्द्धसैनिक बलों के अधिकारियों ने हिस्सा लिया। सैन्य प्रतिष्ठानों के पास उपलब्ध संसाधनों का आकलन करते हुए उसे किस प्रकार कोराना वायरस से उत्पन्न स्थिति से निपटने में उपयोग किया जा सकता है, इस पर गहन विचार-विमर्श किया गया।
सबसे पहले सचिव (आपदा प्रबन्धन) ने सभी विभागों के आपसी समन्वय और संसाधनों के सही मोबलाइजेशन आदि को अत्यधिक महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि सभी एजेंसी अपनी परिसम्पत्तियों विशेषकर अस्पताल, क्वारंटाइन सुविधाएं, एम्बुलेंस, वेंटिलेटर, प्रशिक्षित मानव संसाधन आदि का विवरण राज्य सरकार के संज्ञान में लाएं ताकि आपदाओं के समय उनका सदुपयोग किया जा सके। उन्होंने प्रत्येक एजेंसी से एक नोडल अधिकारी नामित करने पर जोर दिया। बैठक में जन-जागरूकता के महत्व को समझते हुए उससे संबंधित प्रशिक्षण की आवश्यकता की सूची राज्य आपदा प्रतिवादन बल को उपलब्ध कराए जाने पर भी सहमति व्यक्त की।
बैठक में कारोना वायरस से उत्पन्न स्थिति के दृष्टिगत प्रत्येक एजेंसी को उपलब्ध स्थाई व अस्थाई सुविधाओं की आवश्यकताओं को भी सूचीबद्ध किए जाने पर जोर दिया गया ताकि उनका आपात स्थिति में बेहतर उपयोग किया जा सके। राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) के अधिकारियों से कैडेटों को आपदाओं के प्रति प्रशिक्षित कर भीड़ नियंत्रण व होम क्वारंटाइन में रखे गए व्यक्तियों, आवासीय व्यवस्था व नियंत्रण कक्ष में उपयोग किए जाने पर सहमति व्यक्त की गई। Blog single photo
इस दौरान सैन्य पृष्ठभूमि से सेवानिवृत्त होने वाले मेडिकल स्टाॅफ और नेहरू युवा केंद्र के वाॅलियन्टर्स को चिह्नित कर उनका उपयोग इस प्रकार की आपदाओं के नियंत्रण में किए जाने पर बल दिया गया। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अन्तर्गत विभिन्न जनपदों में प्रशिक्षित किए गए वाॅलिन्टियर्स की सूची भी तैयार किए जाने की जरूरत महसूस की गई।
बैठक में पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी, पुलिस महानिदेशक (अपराध एवं कानून व्यवस्था) अशोक कुमार, सचिव (आपदा प्रबन्धन) अमित नेगी , सचिव (प्रभारी), आपदा प्रबन्धन, एसीओ, यूएसडीएमए रिद्धिम अग्रवाल, अधिशासी निदेशक डा. पीयूष रौतेला के साथ ही आईटीबीपी, बीएसएफ, एसडीआरएफ, एनसीसी, उत्तराखंड सब एरिया आदि के अधिकारियों ने हिस्सा लिया।

Spread the love

By udaen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *