उडी़सा की तीर्थयात्री गायत्री के लिए वरदान साबित हुई उत्तराखण्ड सीएम एप

✵ उडी़सा की तीर्थयात्री गायत्री के लिए वरदान साबित हुई उत्तराखण्ड सीएम एप
डाउनलोड अनुलग्नक : ⚜

✵ मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह ने मानसून की पूर्व तैयारियों के सम्बन्ध में समस्त जिलाधिकारियों एवं सम्बन्धित अधिकारियों के साथ बैठक की।
डाउनलोड अनुलग्नक : ⚜

✵ मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश के सभी नव निर्वाचित सांसदों से राज्य के विकास में सहयोगी बनने की अपेक्षा की है।
डाउनलोड अनुलग्नक : ⚜

✵ मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह की अध्यक्षता में सोमवार को सचिवालय में पिरूल नीति के तहत प्रस्तावित प्रोजेक्ट्स को स्वीकृत करने हेतु गठित परियोजना अनुमोदन समिति की प्रथम बैठक सम्पन्न हुयी।
डाउनलोड अनुलग्नक : ⚜

✵ मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने नेपाल और तिब्बत को जोड़ने वाली पर्वत श्रृंखला मकालु पर चढ़ाई के दौरान जनपद पिथौरागढ़ निवासी भारतीय सेना के कुमाऊं स्काउट के जवान श्री नारायण सिंह परिहार के आकस्मिक निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है।
डाउनलोड अनुलग्नक : ⚜

©-2017-2018 DIPR, Uttarakhand. All rights reserved
×
उडी़सा की तीर्थयात्री गायत्री के लिए वरदान साबित हुई उत्तराखण्ड सीएम एप

उडी़सा की तीर्थयात्री गायत्री के लिए वरदान साबित हुई उत्तराखण्ड सीएम एप ऽ दो वर्ष पहले बुकिंग रद्द कराने पर पर कम्पनी नहीं लौटा रही थी पैसे। ऽ जनवरी 2019 में पूर्व सीएम एप पर उड़ीसा निवासी गायत्री ने दर्ज कराई थी शिकायत। दो साल से अपने पैसों के लिए परेशान हो रही गायत्री मिश्रा ने जब सीएम एप के बारे में सुना तो उन्होंने इस पर अपनी शिकायत दर्ज की। कुछ समय पूर्व दर्ज की गई शिकायत पर त्वरित कार्यवाही की गई। अब गायत्री को उनका पैसा वापिस मिल चुका है। गायत्री ने मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत का धन्यवाद देते हुए कहा कि वे दो साल की कोशिशों बाद उम्मीद खो चुकी थीं परंतु सीएम एप उनके लिए वरदान साबित हुआ है। दरअसल दो वर्ष पूर्व अपै्रलमई माह 2017 में भुवनेश्वर निवासी गायत्री ने उत्तराखण्ड में चारधाम यात्रा के लिए पातन देवी फाउंडेशन के माध्यम से आॅनलाईन बुकिंग कराई थी। केदारनाथ हेतु की गई हेलीकाप्टर बुकिंग को उन्होंने निरस्त कराया था। उन्हें आश्वस्त किया गया था कि निरस्त कराई गई बुकिंग का पैसा वापिस कर दिया जाएगा। दो साल तक तमाम कोशिशंे करने पर भी गायत्री को जब पातन देवी फाउंडेशन द्वारा पैसा नहीं लौटाया गया तो वे निराश हो गईं। उन्हें अपने पैसे वापिस मिलने की आशा धूमिल होती लगी। ऐसे समय में किसी ने उन्हें सीएम एप के बारे में बताया। इस पर गायत्री ने माह जनवरी 2019 में पूर्व सीएम एप पर अपनी शिकायत दर्ज कराई। मुख्यमंत्री कार्यालय के निर्देश पर गायत्री की शिकायत पर पुलिस द्वारा जांच की गई। जांच में शिकायत सही पाई गई। पातन देवी फाउंडेशन द्वारा भी गलती स्वीकार की गई और शिकायतकर्ता गायत्री की हेलीकाप्टर बुकिंग सेवा के रूपए 73,600 एनईएफटी के माध्यम से लौटा दिए गए। गायत्री द्वारा भी इसकी पुष्टि की गई। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, मुख्यमंत्री कार्यालय व उत्तराखण्ड पुलिस का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उत्तराखण्ड में मुख्यमंत्री जी द्वारा शिकायतों के आॅनलाईन निस्तारण की जो व्यवस्था की गई है, वह काबिले तारीफ है। सीएम एप की प्रभावी कार्यशैली के बारे में सुनकर ही उन्होंने इस पर अपनी शिकायत दर्ज कराई थी। सीएम एप के बारे में जैसा सुना था, वैसा ही पाया। उत्तराखण्ड में शिकायतों के आॅनलाईन निस्तारण का सिस्टम, डिजीटल इंडिया को सच्चे मायनों में चरितार्थ करता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *