अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना “25दिसम्बर को होगी शुभारंभ

“अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना “25दिसम्बर को होगी शुभारंभ

 उत्तराखंड देश का पहला राज्य बन जाएगा, जहां हर परिवार के 5 लाख तक के इलाज का खर्च सरकार उठाएगी। 
मंगलवार 25 दिसम्बर यानी कल से उत्तराखंड में “अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना” शुरू होने जा रही है। यह योजना ऐसी है जिसमें हर परिवार को मुफ्त इलाज मिलेगा। एक ऐसी योजना जो अब तक देश के किसी भी राज्य में लागू नहीं की गई है। उत्तराखंड क सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के लिए ये योजना ड्रीम प्रोजक्ट की तरह है। 25 दिसंबर को पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्य तिथि पर ये योजना उत्तराखंड में शुरू होने जा रही है। 2018-19 के बजट के दौरान आयुष्मान भारत योजना सबसे ज्य़ादा चर्चित रही थी। उस दौरान ही इसे दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना का नाम दिया गया था। लेकिन परेशानी ये थी कि इस योजना के अंतर्गत उत्तराखंड के सिर्फ 5.37 लाख परिवार ही आ रहे थे। बाकी 23 लाख परिवारों को इसका फायदा नहीं मिल रहा था। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के निर्देश पर आयुष्मान भारत योजना के दायरे को बढाया गया और अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना शुरू की जा रही है।
इसके तहत उत्तराखंड केे सभी परिवारों को हर साल पांच लाख रूपये तक की चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी। ये सुविधा राज्य के सरकारी चिकित्सालयों और सूचीब़द्ध निजी चिकित्सालयों में दी जायेगी। आपात स्थिति में सूचीबद्ध निजी चिकित्सालयों में इलाज के लिये सीधे भर्ती होने पर ये सुविधा मिलेगी। अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना के सुचारू रूप से संचालन हेतु सरकार द्वारा सभी सरकारी चिकित्सालयों के साथ-साथ निजी चिकित्सालयों को सूचीबद्ध करने का कार्य किया जा रहा है तथा सरकार का प्रयास है कि विभिन्न प्रकार की विषेशज्ञताओं के अनुसार चिकित्सालयों को सूचीबद्ध कर लिया जाये। ये योजना हर किसी तक पहुंचे इसके लिए टोल फ्री हेल्प लाईन 104, मोबाईल एप (अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना) और http//ayushmanuttarakhand.org वेबसाइट को भी ज़रिया बनाया गया है। अगर आपके परिवार से कोई बीमार है, तो अस्पताल में भर्ती कराने पर इस योजना का लाभ मिलेगा
इलाज की सुविधा के लिये सरकारी एवं प्राईवेट अस्पतालों का चिन्हित किया गया है।
पात्र लाभार्थी परिवारों के सभी उम्र के सभी सदस्य इस योजना के अन्तर्गत लाभ ले सकते है।
लाभार्थी परिवार अपनी एवं परिवार के सदस्यों का विवरण मोबाईल एप-(अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना) के माध्यम से प्राप्त कर सकते है।
ऐसे परिवार जो योजना में चिन्ह्ति नहीं है का पंजीकरण मोबाईल एप (अटल आयुश्मान उत्तराखण्ड योजना) और वेब साईट http//ayushmanuttarakhand.org के माध्यम से किया जायेगा।
उपचार के वक्त मरीज का एक फोटो पहचान पत्र अवश्य होना चाहिए।
योजना में चयनित परिवारों को उनके डाटा बेस के अनुसार प्रमाणित किया जाएगा
और उपचार मिलेगा।
इस योजना में कुल 1350 (तेरह सौ पचास) तरह की बीमारियों को कवर किया गया है।
मरीजो की मदद के लिये सूचीबद्ध चिकित्सालयों में आरोग्य मित्र तैनात रहेंगे। आरोग्य मित्र का मोबाईल नम्बर चिकित्सालय के हेल्प डेस्क पर उपलब्ध रहेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *