add add इजराइल ने अपने फंसे हुए नागरिकों को निकालने के लिए एअर इंडिया का आभार जताया

international news

तेल अवीव, 27 मार्च (भाषा) कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के बीच एअर इंडिया ने अपने विशेष विमान से 314 इजराइली नागरिकों को बृहस्पतिवार शाम को सुरक्षित उनके देश पहुंचा दिया। कई यात्रियों ने विमान से उतरते समय हाथों में भारत और इजराइल के झंडे लिए हुए थे।

इजराइली दूतावास ने विदेश मंत्रालय से इस संबंध में अनुरोध किया था जिसके बाद एअर इंडिया को विशेष विमान की व्यवस्था करने के लिए कहा गया।

राष्ट्रीय परिवाहक ने चीन, इटली, ईरान और मैड्रिड में फंसे भारतीयों के लिए ऐसी ही उड़ानें संचालित की थी।

एयरलाइन के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, बोइंग 777 विमान शाम करीब चार बजे दिल्ली से रवाना हुआ।

नयी दिल्ली में इजराइल के राजदूत रोन मल्का यात्रियों को विदा करने हवाईअड्डे आए और उन्होंने नि:स्वार्थ सेवा के लिए एअर इंडिया का आभार जताया।

मल्का ने विमान के भारत से रवाना होने से पहले ट्वीट किया, ‘‘मैं एअर इंडिया विमान के कर्मचारियों का शुक्रिया अदा करता हूं जिन्होंने जिम्मेदारी और नि:स्वार्थ भाव से यह सुनिश्चित किया कि इजराइली लोग सुरक्षित घर पहुंच जाएं। दिल से आपका धन्यवाद।’’

तेल अवीव में एअर इंडिया के प्रबंधक पंकज तिवारी ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘जब भी ऐसी सेवा का अनुरोध किया जाता है तो एअर इंडिया हमेशा आगे रहती है और यात्रियों को उनके परिजनों से सुरक्षित मिलाने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करती है।’’

एअर इंडिया ने 300 से अधिक यात्री होने के मद्देनजर इस मार्ग पर उड़ने वाले ड्रीमलाइनर के बजाय बोइंग 777 विमान का इस्तेमाल किया। विमान बिना किसी यात्री के वापस लौटा क्योंकि वह ‘बचाव’ अभियान पर गया था।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इजराइल में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 2,666 पर पहुंच गई है और अभी तक आठ लोगों की मौत हो चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *