मुंबई में जाने-माने फ़िल्मकारों से सीएम की मुलाकात, उत्तराखंड में शूटिंग की संभावनाओं पर चर्चा

Film and entertaintment

मुंबई में जाने-माने फ़िल्मकारों से सीएम की मुलाकात, उत्तराखंड में शूटिंग की संभावनाओं पर चर्चा

फिल्मकारों ने कहा उत्तराखण्ड सरकार (Uttarakhand Government) की गम्भीरता का पता इसी बात से चलता है कि स्वयं मुख्यमंत्री (CM) तीन बार मुम्बई (Mumbai) आकर फिल्मकारों से मिल चुके हैं.

मुंबई में जाने-माने फ़िल्मकारों से सीएम की मुलाकात, उत्तराखंड में शूटिंग की संभावनाओं पर चर्चा
मुंबई. बुधवार देर शाम मुंबई में जाने माने फिल्मकारों ने उत्तराखण्ड (Uttarakhand) के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत (CM Trivendra Singh Rawat) से मुलाकात की. मुख्यमंत्री से मुलाकात करने वालों में निर्माता-निर्देशक आशुतोष गोवरीकर (Ashutosh Gowariker), निर्देशक राजकुमार हिरानी (Raju Hirani), निर्माता जैकी भगनानी (Jacky Bhagnani), दिनेश विजयन, नितेश तिवारी शामिल थे. इन फ़िल्मकारों से राज्य की फिल्म नीति और उत्तराखण्ड में फिल्म शूटिंग को बढ़ावा देने के लिए दी जा रही सुविधाओं पर विस्तार से चर्चा की. जल्द ही फिल्मकारों का एक दल उत्तराखण्ड आएगा और विभिन्न स्थानों का भ्रमण कर वहां फिल्म शूटिंग की संभावनाओं का जायज़ा लेगा.पिछले साल 180 से ज़्यादा फ़िल्मों की शूटिंग 

मुख्यमंत्री ने इन फिल्मकारों को उत्तराखण्ड में कण्डाली (बिच्छु घास) से बनी जैकेट भेंट की जिसकी सभी ने तारीफ़ की. मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड में फिल्म इंडस्ट्रीज का आकर्षण भी काफी बढ़ा है. गत वर्ष राज्य में आयोजित इन्वेस्टर्स समिट में देश-विदेश के फिल्म निर्माताओं द्वारा जो सुझाव दिए गए थे, उन्हें शामिल करते हुए फिल्म नीति 2019 लागू की गई है.इसके साथ ही फिल्म जगत की बड़ी हस्तियों से संवाद कर उन्हें उत्तराखंड में फिल्म शूटिंग के लिए आमंत्रित किया गया है. 66 वें राष्ट्रीय फिल्म फेयर अवार्ड्स में उत्तराखण्ड का चयन मोस्ट फिल्म फेंडली स्टेट के लिए किया गया है. राज्य सरकार की फिल्म नीति के कारण ही पिछले वर्ष 180 से अधिक फिल्मों की शूटिंग राज्य में की गईं, जो एक समर्पित क्षेत्र नीति का परिणाम है.

हवाई सेवा का विस्तार 

मुख्यमंत्री ने बताया कि बड़ी संख्या में दक्षिण भारत व अन्य क्षेत्रों के फिल्मकार भी राज्य के प्रति आकर्षित हुए हैं. उत्तराखण्ड का प्राकृतिक सौन्दर्य फिल्मों के अनुकूल है. यहां का शांत माहौल, अपनत्व व भाई चारा फिल्म निर्माताओं को पसन्द आया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड में फिल्म उद्योग को बढावा देने के लिए फिल्म शूटिंग शुल्क माफ कर दिया गया है. प्रदेश में फिल्मों की शूटिंग से संबंधित सभी औपचारिकताएं सिंगल विण्डो सिस्टम के माध्यम से एक सप्ताह के भीतर पूरी की जा रही हैं. देहरादून स्थित जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट का विस्तार किया जा रहा है. प्रदेश के दुर्गम क्षेत्रों को भी वायु मार्ग से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है.बैठक में उपस्थित फिल्मकारों ने उत्तराखण्ड सरकार के फिल्म शूटिंग को प्रोत्साहित करने के लिए किए जा रहे प्रयासों की सराहना की. उन्होंने कहा कि इन प्रयासों की गम्भीरता का इसी बात से पता चलता है कि स्वयं मुख्यमंत्री तीन बार मुम्बई आकर फिल्मकारों से मिल चुके हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *