भारत सरकार के कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग ने कोविड 19 महामारी के दौरान क्षेत्रीय स्तर पर किसानों और खेती से संबंधित गतिविधियों को सुविधाजनक बनाने के लिए कई उपाय किये

agriculture agro farming sector Awareness
कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय

भारत सरकार के कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग ने कोविड 19 महामारी के दौरान क्षेत्रीय स्तर पर किसानों और खेती से संबंधित गतिविधियों को सुविधाजनक बनाने के लिए कई उपाय किये

खरीफ फसलों के अंतर्गत बुवाई क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति दर्ज की गई

प्रविष्टि तिथि: 03 JUL 2020 10:20PM by PIB Delhi

भारत सरकार का कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग कोविड 19 महामारी के दौरान क्षेत्रीय स्तर पर किसानों और खेती से संबंधित गतिविधियों को सुविधाजनक बनाने के लिए कई उपाय कर रहा है।

खरीफ फसलों के अंतर्गत बुवाई क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति देखी गई है, जिसकी स्थिति निम्नानुसार है:

ग्रीष्मकालीन फसलों का बुवाई क्षेत्र:

  • धान: पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 49.23 लाख हेक्टेयर की तुलना में ग्रीष्मकालीन धान के तहत लगभग 68.08 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई की गई।
  • दलहन: पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 9.46 लाख हेक्टेयर की तुलना में दलहन के तहत लगभग 36.82 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई की गई।
  • मोटे अनाज: पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 35.20 लाख हेक्टेयर की तुलना में मोटे अनाज के तहत लगभग 70.69 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई की गई।
  • तिलहन: पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 33.63 लाख हेक्टेयर की तुलना में तिलहन के तहत लगभग 109.20 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई की गई।
  • गन्ना: पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 49.86 लाख हेक्टेयर की तुलना में गन्ने के तहत लगभग 50.62 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई की गई।
  • जूट और मेस्टा: पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 6.80 लाख हेक्टेयर की तुलना में जूट और मेस्टा के तहत लगभग 5.89 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई की गई।
  • कपास: पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 45.85 लाख हेक्टेयर की तुलना में कपास के तहत लगभग 91.67 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई की गई।

बुवाई क्षेत्र के विवरण के लिए लिंक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *