किसान ने पैदा की बिना बीज वाली लीचियां, सफलता के पीछे खर्च किए 19 साल

agro farming sector

किसान ने पैदा की बिना बीज वाली लीचियां, सफलता के पीछे खर्च किए 19 साल

ऑस्ट्रेलिया: लीची खाने में काफी स्वादिस्ट और मीठे होते हैं। लेकिन दुनिया में कई लोग लीची खाने की जगह उसका जूस पीना पसंद करते हैं। इसके पीछे वजह होती है लीची के बीज। बीज के कारण कई लोग इस फल को खाना अवॉयड करते हैं। ऐसे ही लोगों में शामिल हैं ऑस्ट्रेलिया में रहने वाले टिब्बी डिक्सॉन। उन्हें बीज के कारण लीची खाना पसंद नहीं था। इसलिए उन्होंने बीज रहित लीची पैदा करने की ठानी।

चीन से लाए पेड़ से उगाए अनोखे फल 
टिब्बी बीते 19 साल से बीज रहित लीची उगाने की कोशिश कर रहे थे।  इसके लिए उन्होंने चीन से लीची के पेड़ ऑस्ट्रेलिया मंगवाए। अपनी इस उपलब्धि पर टिब्बी ने साढ़े तीन लाख रुपए भी खर्च किये। कई असफलताओं के बाद आखिरकार उन्हें सफलता हासिल हो गई और उन्होने बिना बीज वाले लीची पैदा कर लिए।

किये कई तरह के प्रयोग 
टिब्बी ने इसके लिए कई तरह के प्रयोग भी किये। वो लीची के फूलों के मेल पार्ट को चीन से मंगवाए पेड़ के फीमेल पार्ट में ट्रांसफर करते रहे। तब तक, जबतक लीचियों से बीज गायब हो गई। अपनी इस उपलब्धि पर 40 साल के इस किसान ने कहा कि ये सफर काफी लंबा था। लेकिन ख़ुशी है कि उन्हें सफलता मिल गई।

बेहद रसीली हैं ये लीचियां 
टिब्बी द्वारा पैदा की गई ये लीचियां बेहद रसीली हैं। साथ ही इनका स्वाद अनानास जैसा भी है। टिब्बी का कहना है कि वो ऑस्ट्रेलिया में कई नई किस्मों के फल लाना चाहते हैं। आने वाले साल में वो ऐसे कई फल मार्केट में लाना चाहते हैं। इन लीचियों को मार्केट में आने में अभी कुछ साल लगेंगे। लेकिन लोगों को इनका बेसब्री से इन्तजार है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *